नई दिल्‍ली (बिजनेस डेस्‍क)। भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने चालू वित्त वर्ष के लिए मोटर थर्ड पार्टी (टीपी) इंश्योरेंस प्रीमियम बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है। यदि यह लागू होता है तो कारों, दोपहिया वाहनों और ट्रांसपोर्ट वाहनों के प्रीमियम में बढ़ोतरी हो सकती है। IRDAI ने चालू वित्त वर्ष के लिए 1,000 सीसी से कम क्षमता की कारों के लिए थर्ड पार्टी प्रीमियम को मौजूदा 1,850 रुपये से बढ़ाकर 2,120 रुपये करने का प्रस्ताव रखा है। बीमा नियामक ने 1,000-1,500 सीसी वाली कारों के लिए प्रीमियम को 2,863 रुपये से बढ़ाकर 3,300 रुपये किए जाने का प्रस्ताव रखा है। 

लक्जरी कारों (1,500 सीसी से अधिक की इंजन क्षमता वाली कार) के प्रीमियम में बदलाव का प्रस्ताव नहीं है। इन कारों का प्रीमियम अभी 7,890 रुपये है। थर्ड पार्टी प्रीमियम की दर आम तौर पर एक अप्रैल से संशोधित की जाती है। इस साल हालांकि बीमा नियामक ने अगले आदेश तक के लिए पुरानी दरों को ही जारी रखा है। नियामक ने अब चालू वित्त वर्ष के लिए नई दरों का एक मसौदा जारी किया है। इस पर 29 मई तक विभिन्न पक्षों से टिप्पणी आमंत्रित की गई है।

मसौदे के मुताबिक 75 सीसी से कम के बाइक के लिए थर्ड पार्टी प्रीमियम की दर को 427 से बढ़ाकर 482 रुपये करने का प्रस्ताव है। 75-350 सीसी वाली बाइक के लिए भी प्रीमियम की दर बढ़ेगी। सुपरबाइक्स (350 सीसी से अधिक) के लिए हालांकि कोई वृद्दि प्रस्तावित नहीं है।

नियामक ने सिंगल प्रीमियम की दर (नई कार के लिए तीन साल और नई बाइक के लिए पांच साल) में बदलाव नहीं किया है। इलेक्ट्रिक प्राइवेट कार और इलेक्ट्रिक बाइक के लिए हालांकि थर्ड पार्टी प्रीमियम में 15 फीसद छूट का प्रस्ताव है। ई-रिक्शा का प्रीमियम बढ़ाने का प्रस्ताव नहीं है। लेकिन, स्कूल बस का प्रीमियम बढ़ सकता है। टैक्सी, बस और ट्रक के लिए भी प्रीमियम बढ़ाने का प्रस्ताव है। ट्रैक्टर का भी प्रीमियम बढ़ सकता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Mishra