नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। बीमारियां कभी भी किसी को भी हो सकती हैं, इसलिए यह जरूरी है कि समय पर ही अपने लिए एक अच्छी हेल्थ पॉलिसी खरीद लें। सिर्फ हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना ही सब कुछ नहीं होता। किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी की खरीद से पहले जरूरी है कि उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल की जाए। एक्सपर्ट का मानना है कि हमें अपने लिए हेल्थ पॉलिसी का चुनाव काफी सोच समझकर करना चाहिए। अगर आप किसी खास बीमारी से ग्रसित हैं तो भी बाजार में आपके लिए तरह तरह की पॉलिसियां मौजूद हैं।

लोग आमतौर पर पर्सनल हेल्थ स्कीम और फैमिली फ्लोटर प्लान के बीच भ्रमित होते हैं। पर्सनल हेल्थ स्कीम का अर्थ है हर परिवार का अपना अलग इंश्योरेंस कवर। हालांकि, फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा योजना में बीमा की गई सीमा का उपयोग परिवार के किसी भी सदस्य द्वारा किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी स्वास्थ्य बीमा योजना 5 लाख रुपये की है, तो चिकित्सा आपातकाल के दौरान कोई भी सदस्य इस पूरी राशि का उपयोग कर सकता है।

फैमिली फ्लोटर योजना व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की तुलना में उच्च बीमा राशि देता है। कुछ फैमिली फ्लोटर योजनाएं हैं जो आश्रित माता-पिता, भाई-बहनों के साथ-साथ व्यक्तिगत, जीवनसाथी और बच्चों को कवर करती हैं। फैमिली के फ्लोटर प्लान में परिवार के किसी एक सदस्य के दावे के समय कवर कम हो जाता है। किसी भी अप्रत्याशित घटना के दौरान, जहां परिवार के सभी सदस्यों को स्वास्थ्य बीमा कवर की आवश्यकता होती है, तब यह योजना सभी के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए अपर्याप्त होगी।

फैमिली फ्लोटर स्वास्थ्य योजना की तुलना में एक व्यक्तिगत नीति अपेक्षाकृत महंगी है। परिवार फ्लोटर योजनाओं में प्रीमियम का निर्धारण सबसे पुराने सदस्य की उम्र के आधार पर किया जाता है, जिसका बीमा किया जाना है। हालांकि, व्यक्तिगत नीति के मामले में आवेदक की आयु पर विचार किया जाता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh