नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। पढ़ाई पूरी करने बाद हम सभी अपने प्रोफेशनल करियर की शुरुआत करते हैं और यहां से हमारा नौकरी ढूंढने का सिलसिला शुरू हो जाता है। कुछ इंटरव्यू के बाद नौकरी मिल जाती है, लेकिन जैसे-जैसे जिंदगी आगे बढ़ती है, हमारे साथ कई फाइनेंशियल गोल जुड़ते चले जाते हैं। खुद की शादी, बच्चे की शिक्षा व स्वास्थ्य पर ध्यान देना, परिवार में भाई-बहन के खर्चों को पूरा करने के लिए सहयोग करना, साथ ही परिवार के दूसरे खर्चों में हम इतने व्यस्त हो जाते हैं कि अपने लिए नया घर लेना एक सपना बन जाता है। इसके अलावा जैसे-जैसे प्रोपर्टी के दाम बढ़ रहे हैं, ऐसे में नए घर का मालिक बनना एक नौकरी करने वाले व्यक्ति के लिए और भी मुश्किल हो जाता है।

घर लेना हर किसी के लिए एक फाइनेंशियल गोल होता है, और जब व्यक्ति कमाना शुरू करता है, तो तभी से ही वो इसका सपना देखने लगता है। ऐसा नहीं है कि कमाई कम है, लेकिन अगर हम अपने पैसे को सही तरीके से मैनेज करें और खर्चों को लेकर अनुशासित रहें, तो आप जल्द ही अपना नया घर लेने का सपना पूरा कर सकते हैं। इसके लिए सबसे जरूरी चीज है कि आप अपने अंदर वित्तीय साक्षरता (Financial Literacy) को बढ़ाएं और पर्सनल फाइनेंस को समझें। आइए उन 5 तरीकों के बारे में जानें, जिन्हें अपनाकर आप अपने घर लेने के सपने को सच कर सकते हैं। इस लेख में हम यह भी जानेंगे कि HDFC Life का HDFC Life Click 2 Wealth प्लान एक फाइनेंशियल इंस्ट्रूमेंट के रूप में काम करके कैसे आपके पोर्टफोलियो को मजबूत बनाता है और आपके घर लेने के सपने को पूरा करने में मदद करता है।

जल्दी शुरुआत करें

यह जरूरी है कि कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही आपके अंदर फाइनेंशियल लिटरेसी आ जाए, ताकि जब आप नौकरी करने जाएं तो आप पर्सनल फाइनेंस को समझना शुरू कर दें। आप यह समझें कि बचत और निवेश आपके लिए कितना जरूरी है, क्योंकि आप जितनी जल्दी अपनी बचत और अपने निवेश पर फैसले लेंगे, उतनी ही जल्दी आप अपने घर लेने के सपने को पूरा कर सकते हैं। इसलिए आप पहली सैलरी के साथ ही पर्सनल फाइनेंस पर काम करना शुरू दें।

अपने खर्चे को नियंत्रित करें

आपके लिए कौन सी चीजें जरूरी हैं और कौन सी चीजों पर आपको खर्च नहीं करना है, अगर आप यह समझने लगते हैं तो आपके हाथों में पैसा रुकने लगेगा। आप पैसे बचाना शुरू कर देते हैं। और जो व्यक्ति अपने भविष्य के लिए पैसे बचाता है, वो आगे घर लेने जैसे अपने फाइनेंशियल गोल को पूरा कर पाता है। इसलिए फिजूल के खर्चों को कंट्रोल करें और पैसे बचाना शुरू करें।

बजट की तैयारी

आपको किस तरह का घर लेना है और कब लेना है, इसके बारे में आप बहुत पहले ही निर्णय ले लीजिए, ताकि आप उसके लिए एक बजट तैयार कर सकें। अगर आप इस समय 24 साल के हैं और अगले पांच वर्षों में अपना घर खरीदना चाहते हैं, तो आपको पैसे बचाने से पहले अपने फाइनेंशियल गोल की रूपरेखा तैयार करनी होगी। कितना खर्च करना है और कितना बचत व निवेश करना है, उसको लेकर आपको अनुशासित रवैया अपनाना होगा, ताकि आप जल्द से जल्द अपने गोल के करीब पहुंच पाएं।

बचाए गए पैसे को सही जगह निवेश करें

यह देखा गया है कि जो व्यक्ति अपने पैसे की बचत करता है, उसके अंदर निवेश करने की उत्सुकता जरूर होती है। वो चाहता है कि अपने पैसे को ऐसी जगह निवेश करे जिससे वो अतिरिक्त पैसे बना सके। यहां पर आपको ध्यान देना है कि आप निवेश कहां कर रहे हैं, क्योंकि निवेश के कई सारे विकल्प हैं। अगर आपको रिटर्न ज्यादा चाहिए तो आप म्यूचुअल फंड और स्टॉक मार्केट की ओर जा सकते हैं, लेकिन यहां आपको रिस्क भी ज्यादा मिलेगा। वहीं, अगर आप एक सुरक्षित निवेश करना चाहते हैं तो आपके लिए फिक्स्ड डिपॉजिट, पीपीएफ, ईपीएफ जैसे विकल्पों पर जा सकते हैं। हालांकि, यहां आपको म्यूचुअल फंड और स्टॉक मार्केट के मुकाबले रिटर्न कम मिलेगा। निवेश के कुछ सालों बाद जो आपको कॉर्पस अमाउंट मिलेगा, आप उस अमाउंट को घर खरीदने में इस्तेमाल कर सकते हैं।

अपने लिए एक अच्छा ULIP प्रोडक्ट लें

अपना घर लेने के सपने को पूरा करना है तो आपको निवेश करते समय समझदारी दिखानी चाहिए। आपको ऐसी जगह पर निवेश करना चाहिए जो आपको इंश्योरेंस दें साथ ही साथ अच्छा रिटर्न भी दें। यहां ULIP प्रोडक्ट आपके लिए सही रहेगा, जहां आपको इंश्योरेंस और इनवेस्टमेंट एक ही जगह मिल जाता है और यह टैक्स सेविंग में भी आपकी मदद करता है। अगर आप एक अच्छा ULIP प्रोडक्ट देख रहे हैं, तो आपके लिए HDFC Life Click 2 Protect Life (HDFC Life Click 2 Wealth) एक सही प्रोडक्ट होगा। यह प्लान आपकी जरूरतों को पूरा करने में मदद करता है, साथ ही, आपके परिवार को मुसीबतों से बचाता है। यह आपको लाइफ प्रोटेक्ट ऑप्शन, डेथ बेनिफिट, मैच्योरिटी बेनिफिट और एडिशनल बेनिफिट की सुविधा देता है। बता दें कि इसमें आकस्मिक मृत्यु पर आपके परिवार को अतिरिक्त बीमा राशि मिलेगी। गंभीर बीमारी के उपचार में आप प्रीमियम की छूट का लाभ उठा सकते हैं। इसके अलावा, इसमें महिला और नॉन-टोबैको यूजर्स के लिए स्पेशल प्रीमियम रेट्स की सुविधा दी गई है। आप रिटर्न ऑफ प्रीमियम ऑप्शन के साथ मैच्योरिटी तक जीवित रहने पर भुगतान किए गए सभी प्रीमियम को वापस ले सकते हैं। साथ ही यह टैक्स में बचत की भी सुविधा देता है। बता दें कि HDFC Life का क्लेम सेटलमेंट रेश्यो यानी सीएसआर 98.01% है।

लेखक- शक्ति सिंह

Note:- यह आर्टिकल ब्रांड डेस्क द्वारा लिखा गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप