मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती लागत आज हर किसी के चिंता का सबब बनी हुई है। रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए यह और भी अधिक चिंता की बात है, वह इसलिए क्योंकि उस उम्र में कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं देखने को मिलती हैं। ऐसे में सही स्वास्थ्य बीमा योजना निश्चित रूप से उपचार में आपकी सहायता कर सकती है। आइए जानते हैं वे पांच तरीके जिनसे आप अपना स्वास्थ्य और पैसे दोनों बचा सकते हैं।

यथार्थवादी योजना बनाएं

रिटायर्मेंट के बाद वित्तीय योजना बनाना थोड़ा जटिल हो सकता है। इसमें आपको अपने भरण-पोषण से लेकर स्वास्थ्य सेवाओं तक, हर पहलू पर पूरी तरह योजना बनानी होती है। इसके लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण चीजों पर ध्यान देना होता है। जब आप भविष्य के लिए वित्तीय योजना बना रहे होते हैं, तो आपको उच्च महंगाई दर को ध्यान में रखना होता है। भविष्य में आपका स्वास्थ्य किस करवट लेगा, यह कोई नहीं जानता। इसलिए, आपकों विभिन्न स्वास्थ्य-संबंधी परिदृश्यों की कल्पना करनी चाहिए और उसके अनुसार योजना बनानी चाहिए। हर तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्या का अगल उपचार है और हर बार लागत बहुत बदल जाती है।

सही बीमा योजना में निवेश करें

स्वास्थ्य संबंधी खर्चों के खिलाफ अगर कोई सबसे बड़ा हथियार है, तो वह हैं विभिन्न स्वास्थ्य बीमा योजनाएं। आप विशेष स्वास्थ्य बीमा कवर के लिए भुगतान की जाने वाली प्रीमियम राशि का निर्धारण करने के लिए ऑनलाइन स्वास्थ्य बीमा कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं। सेवानिवृत्त लोग विभिन्न प्रकार के बीमा कवर का लाभ उठा सकते हैं जैसे व्यक्तिगत बीमा, फैमिली फ्लोटर आदि।

निर्धारित करें कि आपको कितना स्वास्थ्य बीमा चाहिए

किसी गंभीर बीमारी की स्थिति में आपको कितना कवर चाहिए इसका पता करना चुनौतीपूर्ण है। इसलिए, अंतिम निर्णय लेने से पहले कुछ बातों पर विचार करना चाहिए। सबसे पहले, आपको अपने क्षेत्र में अस्पताल में भर्ती होने की लागत का पता लगाने की आवश्यकता है। यदि आपकी फैमिली में लोगों को बड़ी बीमारियां हुई हैं, तो यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप उन बीमारियों के इलाज की लागत का पता लगाएं। साथ ही बीमा कवर लेते समय आपको स्वास्थ्य सेवाओं पर 15 फीसद महंगाई का भी ध्यान रखना चाहिए। कम से कम आपका स्वास्थ्य कवर 5 लाख रुपये का होना चाहिए।

दीर्घकालिक देखभाल के लिए योजना बनाएं

60 वर्ष की आयु के बाद स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे अधिक गंभीर होने लगते हैं। आपको लंबे समय तक विशेष देखभाल की आवश्यकता हो सकती है। इसमें न केवल लंबे समय तक अस्पताल में रहना शामिल है, बल्कि बाद में नर्सिंग देखभाल भी शामिल है। ऐसे में गंभीर बीमारी बीमा पॉलिसी में सहायक हो सकती है क्योंकि यह दीर्घकालिक देखभाल की आवश्यकता वाले स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों को कवर करती है।

अपनी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी की समीक्षा करें

स्वास्थ्य सेवाओं की लागत और बीमा पॉलिसी समय-समय पर बदलती रहती हैं। इसलिए, यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप हर साल अपने बीमा कवर की समीक्षा करें और सुनिश्चित करें कि आपके पास हमेशा सबसे अच्छा बीमा कवर हो। हमेशा अपनी बदलती जरूरतों के आधार पर स्वास्थ्य बीमा खरीदें ताकि आपका प्रीमियम बेकार न जाए।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप