नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना हर किसी के लिए एक समझदारी भरा फैसला होता है। बीमारियां कभी भी किसी को भी हो सकती हैं, इसलिए यह जरूरी है कि समय रहते ही आप अपने लिए एक अच्छी हेल्थ पॉलिसी खरीद लें। सिर्फ हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना ही सब कुछ नहीं होता। किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी की खरीद से पहले जरूरी है कि उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल की जाए।

जानकार बताते हैं कि हमें अपने लिए हेल्थ पॉलिसी का चुनाव काफी सोच समझकर करना चाहिए। इसके अलावा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के कई फायदे भी हैं। हम इस खबर में ऐसे ही पांच फायदों के बारे में बता रहे हैं।

घर पर इलाज: हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में हॉस्पिटल में एडमिट होने पर आने वाले खर्च को शामिल किया जाता है लेकिन, अगर मरीज हॉस्पिटल में जाने में समर्थ नहीं है, या फिर हॉस्पिटल में उसके लिए कोई रूम खाली नहीं है तो फिर ऐसी हालत में उसका इलाज घर पर किया जा सकता है और इसके लिए डॉक्टर से अनुमति की जरूरत पड़ेगी। मरीज के इलाज में घर पर होने वाला खर्च भी हेल्थ इंश्योरेंस में शामिल किया जाएगा।

ऑर्गन डोनर: अगर ऐसी स्थिति आती है कि मरीज की किडनी या लीवर बदलना पड़े तो इसके लिए लगने वाले भारी खर्च को भी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत कवर किया जाएगा।

मुफ्त हेल्थ चेकअप: हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लिए हुए व्यक्ति को साल में 3 से 5 बार मुफ्त हेल्थ चेकअप कराने की छूट मिलती है।

कैश की सुविधा: मरीज के अस्पताल में एडमिट के वक़्त दवाओं और अन्य जरूरी खर्च के अलावा उसके खाने का खर्च और यात्रा व्यय के लिए पैसों की जरूरत पड़ेगी। ऐसी स्थिति में कुछ हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी देने वाले कंपनियां कैश की व्यवस्था भी करती हैं और मरीज को जरूरत पर कैश मिल जाता है।

टैक्स का लाभ: हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लिए हुए व्यक्ति को टैक्स में लाभ मिलता है। पॉलिसी धारक आयकर विभाग एक्ट 1961 के सेक्शन 80D के तहत, 55,000 रुपये तक का टैक्स क्लेम कर सकते हैं।

Posted By: Nitesh