देश में छुट्टियां मनाने का चलन अब बढ़ता जा रहा है। लेकिन, विदेश जाने से पहले ही किसी अप्रत्याशित की आशंका हमेशा सफर के आनंद को प्रभावित करती रहती है। इस आशंका से निजात पाने का एक ही इलाज है और वह है व्यापक ट्रैवल इंश्योरेंस। अब तो विदेश यात्रा से पहले ट्रैवल इंश्योरेंस कराना अपनी यात्रा को सुरक्षित करने के लिहाज से बेहद जरूरी भी हो गया है।

विदेश यात्रा के दौरान कुछ हो जाने पर लोगों को ट्रैवल इंश्योरेंस का क्लेम लेना दिक्कत भरा लगता है। कुछ ऐसे जरूरी कदम हैं कि जिन्हें यदि बीमाधारक उठाएं तो क्लेम लेने में मुश्किल नहीं होती है।

1. बीमा कंपनी को सूचित करें
कुछ भी ऐसा हो जाए, जो ट्रैवल इंश्योरेंस के दायरे में आता हो तो उसकी सूचना सबसे पहले बीमा कंपनी को दें। इससे न केवल आपके साथ घटी घटना को सूचित किया गया, यह सुनिश्चित हो जाएगा, बल्कि दावा प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी।

2. पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं
किसी भी देश में हों। ऐसी स्थिति में तुरंत पुलिस में रिपोर्ट करानी चाहिए। एफआइआर की कॉपी भी तुरंत लें। यह एक अहम दस्तावेज हो जाता है।

3. दूतावास की मदद लें
उपरोक्त दोनों काम करने के बाद तुरंत भारतीय दूतावास जाएं। दूतावास पासपोर्ट खो जाने की स्थिति में इमरजेंसी सर्टिफिकेट इश्यू करता है। उसके लिए आवेदन करना आवश्यक है।
ये तीनों काम हो जाने के बाद आप छुट्टियों का तनाव तो कम करते ही हैं। बीमा कंपनी से दावे की प्रक्रिया को भी काफी हद तक आगे बढ़ा देते हैं। समस्या चाहे पासपोर्ट खोने की हो या किसी अन्य सामान के चोरी चले जाने की। देश लौटकर बीमा कंपनी से अपने नुकसान की भरपाई के लिए क्लेम लेना आसान बना लेते हैं।
अमित भंडारी
उपाध्यक्ष, क्लेम, आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड
संबंधित अन्य सामग्री पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप