आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड की मोटर पॉलिसियों की तरफ ग्राहकों का रुझान बनाए रखने के लिए आप क्या करते हैं?
-प्रत्येक वाहन स्वामी के लिए मोटर इंश्योरेंस संरक्षण का अहम प्रोडक्ट है। शहरों में ट्रैफिक लगातार बढ़ रहा है और दुर्घटनाओं की संख्या भी। ऐसे में मोटर इंश्योरेंस आप और आपके वाहन के संरक्षण के लिए आवश्यक हो गया है। कंपनी दोपहिया, निजी वाहनों समेत सभी तरह के वाहनों की इंश्योरेंस पॉलिसियों के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने संबंधी कई कदम उठाती है। ऐसे ही एक अनोखे कदम के तहत कंपनी ने चुनिंदा पेट्रोल पंप मालिकों के साथ मिलकर इंश्योरेंस बूथ लगाए थे। इसका उद्देश्य वाहन चालकों को उचित स्थान पर रोककर मोटर इंश्योरेंस के लिए प्रेरित करना और वहीं उनके वाहन का बीमा करना था। इस अभियान में खासतौर पर दो पहिया वाहन चालकों पर फोकस किया गया था।

क्या कंपनी अपनी पॉलिसी के साथ कोई अनोखा ऑफर देती है?
-हमारी कंपनी की खासियत ही यही है कि हम सदैव सिम्पल प्रोडक्ट के साथ इनोवेटिव फीचर देने में विश्वास करते हैं। हमारी पॉलिसियों के साथ ग्राहकों को खास तरह के एड ऑन फीचर ऑफर किए जाते हैं। इनमें रोड साइड असिस्टेंस कवर समेत इंजन प्रोटेक्शन जैसी कई सुविधाएं शामिल हैं। साथ ही, कंपनी मोबाइल एप से सीधे पॉलिसी खरीदने और उसे रिन्यू करने की सुविधा भी देती है। जो ग्राहक अपनी मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम जानने के इच्छुक हैं, उन्हें केवल अपनी मौजूदा पॉलिसी की स्कैन कॉपी ऑनलाइन भेजने की आवश्यकता है। एक क्लिक में वे अपने वाहन के लिए पॉलिसी का प्रीमियम पता कर सकते हैं।

पॉलिसी लेने के बाद सबसे बड़ी दिक्कत क्लेम लेते वक्त आती है। ग्राहकों की इस दिक्कत को कम करने के लिए क्या कर रहे हैं?
-देखिए, प्रत्येक बीमा कंपनी की सच्चाई का पता उसी वक्त लगता है, जब क्लेम देने का समय आता है। आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड में हमने क्लेम में लगने वाले समय को काफी कम करने में सफलता प्राप्त की है। हमारी कंपनी के सर्वेयर टेबलेट के जरिये ऑन द स्पॉट सर्वे करने में सक्षम हैं। वे उसी वक्त अपनी आकलन रिपोर्ट भी फाइल कर देते हैं। अपने मौजूदा और नए ग्राहकों के लिए हमने एक नया मोबाइल एप विकसित किया है। इसके जरिये ग्राहक खुद ही मोबाइल से अपने क्षतिग्रस्त वाहन की तस्वीर खींच कर क्लेम के लिए भेज सकते हैं। इसके बाद उनके क्लेम की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इससे सर्वेयर के आने और उसकी रिपोर्ट मिलने में लगने वाले समय की बचत हो जाती है।

मोटर इंश्योरेंस के साथ अब लगभग सभी कंपनियां एड ऑन फीचर दे रही हैं। इन फीचर्स का ग्राहक के लिए क्या महत्व है?
-मोटर इंश्योरेंस को आमतौर पर आपके वाहन के किसी दुर्घटना की चपेट में आने पर होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए जाना जाता है। बीमा कंपनियां पॉलिसियों में अब विभिन्न सुविधाओं को जोड़कर उनका दायरा बढ़ा रही हैं, ताकि ग्राहकों को और बेहतर सेवा दे सकें। इससे ग्राहकों को भी लाभ हो रहा है। उदाहरण के तौर पर मोटर इंश्योरेंस के साथ रोडसाइड असिस्टेंस का फीचर जोड़ने से ग्राहक कहीं भी ब्रेकडाउन होने की स्थिति में दिक्कत में नहीं आता। यह सुविधा उसे वाहन में होने वाली छोटी से छोटी दिक्कत से निजात दिलाती है। बैटरी डाउन हो जाने, टायर पंक्चर होने, चाबी खो जाने, आपात स्थिति में वाहन को टो करने और ईंधन खत्म होने की स्थिति में भी यह सुविधा बहुत काम आती है।

ग्राहकों के लिए किस तरह के जागरूकता अभियान चलाती है आपकी कंपनी?
-आमतौर पर हम वाहन चालकों को आने वाली हर प्रकार की दिक्कत से जुड़े अभियान चलाते हैं। वाहन चालकों के सामने हर रोज कई तरह के जोखिम होते हैं। मसलन मानसून के सीजन में आने वाली दिक्कतों से वाहन चालक कैसे बच सकते हैं, इसके लिए हम समय-समय पर आयोजन करते रहते हैं। समय-समय पर कंपनी अपने ग्राहकों को एसएमएस व ईमेल के जरिए संदेश भेजती है। ग्राहकों के साथ संपर्क बनाए रखने के लिए आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल भी करती है। समय-समय पर वर्कशॉप आयोजित की जाती हैं, जिसमें ग्राहकों से जुड़ी प्रत्येक दिक्कत व उनके समाधान पर बात होती है।
अमिताभ जैन
हेड, मोटर अंडरराइटिंग एंड क्लेम्स
आइसीआइसीआइ लोम्बार्ड

संबंधित अन्य सामग्री पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप