सरबवीर सिंह, नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस की महामारी फैलने और अर्थव्यवस्था पर होने वाले इसके असर की खबरें चारों तरफ छाई हुई हैं। ऐसे में हममें से कई लोगों को यह चिंता है कि इस वैश्विक महामारी के बीच अपनी निजी आर्थिक स्थिति को कैसे संभालेंगे। इस बारे में कई सवाल खड़े होते हैं, क्या EMI या क्रेडिट कार्ड बिलों का अभी भुगतान करना चाहिए या कुछ महीनों के लिए टाल दें, या फिर अनिश्चित आर्थिक स्थिति को देखते हुए आगामी वित्त वर्ष की योजना कैसे बनाएं, या इस बात का फैसला करना कि ऐसे अनिश्चित बाजार में अपनी बचत पूंजी को कहां रखें। 

ऐसे माहौल में हमें एक महत्‍वपूर्ण शुरुआत करनी होगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारे पास एक ठोस आर्थिक योजना रहे। सच्चाई यह भी है कि किसी भी व्यक्ति के पास इमरजेंसी आने से पहले ही एक योजना तैयार होनी चाहिए। आपके पास कोई योजना है या नहीं है, लेकिन मौजूदा इमरजेंसी हमारे सामने खड़ी है! चलिये हम देखते हैं कुछ ऐसे वास्तविक कदम जो आपको अपनी आर्थिक स्थिति संभालने में मदद करेंगे। 

पहला कदमः अपने खर्चों को कम से कम रखें और एक इमरजेंसी फंड बनाना सुनिश्चित करें

हमेशा याद रखें कि हर छोटा कदम मददगार हो सकता है! ऐसे हालात में एक इमरजेंसी फंड बेहद जरुरी है, और आपको इस फंड में तीन से छह महीनों के अपने जरूरी खर्चों के बराबर की राशि रखनी चाहिए। सरल शब्दों में कहें तो मौजूदा संकट दूर होने तक आपके पास रोजाना के खर्चे संभालने के लिए पर्याप्त नगद राशि होनी चाहिए। हो सकता है कि आपको इसके लिए कुछ समय तक अपने रिटायरमेंट के लिए की जाने वाली बचत भी रोकनी पड़े और इन पैसों को अपने इमरजेंसी फंड में डालने पर ध्यान देना चाहिए। हालात सामान्य होने के बाद आप एक बार फिर से अपनी नियमित बचत शुरु कर सकते हैं। 

इस अवधि के दौरान बचाया गया एक-एक रुपया बड़े काम आएगा। अपना इमरजेंसी फंड जमा करने के लिए आपको अपने रोजाना के खर्चों पर कंट्रोल करना ही होगा। इसके लिए एक अच्छा सुझाव यह होगा कि डिजिटल पेमेंट करें, खासकर जहां आपको इसके लिए डिस्काउंट मिल रहा है। 

दूसरा कदमः अपनी EMI चुकाएं, इसे तभी टालें जब आपके पास पैसों की सख्त कमी हो

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने हर प्रकार की लोन EMI के लिए तीन महीने का मोरैटोरियम देकर उन लोगों को राहत जरुर दी है, जो लॉकडाउन के कारण इसकी उम्मीद कर रहे थे। लेकिन मोरेटोरियम में लोन ग्राहकों को ब्याज के भुगतान से राहत नहीं मिलती। अगर आप EMI टालने का फैसला करते हैं, तब भी आपके लोन पर लागू ब्याज दर जुड़ती रहेगी। अगर आपको अपनी EMI का भुगतान टालना ही है तो EMI राशि और उस पर लगने वाले ब्याज दर के हिसाब से प्राथमिकता क्रम बनाएं। उदाहरण के लिए क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि पर भारी-भरकम ब्याज दरें (प्रति माह से 3% अधिक) लगाई जाती हैं, इसलिए अपने कार्ड बिल को समय पर चुकाना और खर्चों को कम से कम रखने में ही बुद्धिमानी होगी। मोरैटोरियम की एक अच्छी बात यह है कि EMI या क्रेडिट कार्ड भुगतान टालने से आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित नहीं होगा।  

अगर आप एविएशन, ट्रैवल, हॉस्पिटैलिटी, रीटेल, मैन्युफैक्चरिंग और ऑटोमोटिव जैसे सेक्टर में काम कर रहे हैं, जहां कोरोना वायरस संकट का गंभीर नुकसान हुआ है, तो इस बात की पूरी संभावना है कि वहां नौकरियों में कटौती, वेतन कटौती की जाएगी। ऐसे व्यवसायों को दोबारा सामान्य स्थिति में आने के लिए तीन से छह महीने तक का समय लग सकता है। ऐसी स्थिति में आपको अपनी ऋणदाता कंपनी से लोन की अवधि बढ़ाकर EMI राशि घटाने का आग्रह करने के बारे में सोचना चाहिए।  

तीसरा कदमः हेल्थ या लाइफ प्रोटेक्शन कवर खरीदें या अपनी मौजूदा पॉलिसी को टॉप-अप कराएं

एक संभावित आर्थिक इमरजेंसी से खुद की सुरक्षा करने के लिए एक बेहद प्रभावी तरीका यह भी होगा कि अपने लिए पर्याप्त हेल्थ और लाइफ इंश्योरेंस कवर रखें। आपके पास एक टर्म इंश्योरेंस कवर तो जरूर होना चाहिए। यह एक सीधा-सरल प्लान है जो आपको बेहद किफायती दामों पर सबसे अधिक लाइफ कवरेज देता है। आर्थिक सलाहकार यही सुझाव देते हैं कि आपके पास अपनी वार्षिक आमदनी का कम से कम 8-10 गुना के बरबार का कवर होना चाहिए। आपको यह पता होना चाहिए कि एक 30 वर्षीय पुरुष के लिए 1 करोड़ रुपए का टर्म लाइफ कवर सिर्फ 8000 रुपए के वार्षिक प्रीमियम पर उपलब्ध है। 

अगर आपने अब तक एक हेल्थ प्लान नहीं खरीदा है, तो आपको तुरंत खरीदना चाहिए। अगर आपको अपनी नियोक्ता कंपनी से एक कवर मिला हुआ है, तब भी आपको एक व्यक्तिगत कवर जरूर लेना चाहिए। पिछले कुछ सालों में मेडिकल महंगाई दर तेजी से बढ़ी है और हर प्रकार के इलाज का खर्च भी बढ़ा है। परिवार में हर व्यक्ति के लिए 5-10 लाख रुपए का कवर होना जरूरी है। अगर आपके पास वर्तमान में कम राशि का कवर है तो आप एक सुपर टॉप-अप कवर ले सकते हैं और यह बेहद किफायती दाम पर मिल जाएगा। 

आज बाजार में मिलने वाले 5-10 लाख के कवर के बराबर की कीमत में आपको ऑनलाइन मार्केटप्लेस में रु. 1 करोड़ का हेल्थ कवर मिल जाएगा। एक 30 वर्षीय व्यक्ति के लिए रु. 1 करोड़ का प्लान रु. 10,000 से कम प्रीमियम पर उपलब्ध है। पर्याप्त लाइफ हेल्थ एवं लाइफ कवर होने से घर के कमाने वाले सदस्य के लिए जीवन के अप्रत्याशित जोखिम जैसे मृत्यु, बीमारी और अपंगता से मजबूत सुरक्षा मिल सकती है। 

चौथा कदमः नियमित निवेश के जरिये लंबी अवधि में बचत पूंजी तैयार करें – बाजार के सही समय का इंतजार ना करें

लोग अक्सर इस बात को लेकर भ्रम में रहते हैं कि निवेश करने का सही समय क्या होगा। दरअसल, अपनी बचत पूंजी बनाने के लिए निवेश की शुरुआत करने का सही या गलत समय कभी नहीं आता। विभिन्न अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि बाजार में दिया गया समय अधिक महत्वपूर्ण है (अधिक समय तक बाजार में निवेश करने से चक्रवृद्धि का असली फायदा मिलता है) ना कि बाजार में कदम रखने के लिए सही समय का इंतजार करना। एक सिस्टमैटिक प्लान के जरिये आप जितने लंबे वक्त तक पूंजी जमा करते हैं, उतनी ही बेहतर ढंग से बाजार के उतार-चढाव से बचने और चक्रवृद्धि के रिटर्न पाने में सफल होते हैं। 

अपने दिमाग में हर महीने बचाने के लिए एक निश्चित राशि तय कर लें और अनुशासित ढंग से निवेश करें। अपने लिए पर्याप्त पूंजी जमा करने के लिए आप म्‍युचुअल फंड्स या यूलिप्स में निवेश कर सकते हैं। म्‍युचुअल फंड्स में निवेश करना आपके लिए अधिक सुविधाजनक होगा और ढेर सारे विकल्प भी मिलेंगे। वहीं दूसरी तरफ ऑनलाइन यूलिप्स आपके अपने बच्चे के लिए पूंजी जुटाने में मददगार होंगे क्योंकि इसमें एक ऐसा फीचर मौजूद है जिसके अंतर्गत अभिभावक की अचानक मृत्यु होने पर आगे के सभी प्रीमियम इंश्योरेंस कंपनी चुकाती है। इस तरह आपका पैसा बढ़ता रहता है और पॉलिसी के परिपक्व होने पर योजना के मुताबिक बच्चे को पूरी रकम मिलती है। 

अभी हम एक बेहद अनिश्चित समय में जी रहे हैं और अपनी आर्थिक स्थिति की चिंता होना स्वाभाविक है। इसलिए कुछ सामान्य बातों को गांठ बांध लें – इमरजेंसी फंड तैयार रखें, सिर्फ वही खर्च करें जो बेहद जरूरी है, यह सुनिश्चित करें कि अपने परिवार को किसी भी अनहोनि से बचाने के लिए आपके पास इंश्योरेंस पॉलिसी होनी चाहिए और अंततः लंबी अवधि की बचत पूंजी तैयार करने के लिए नियमित रूप से निवेश करें। सुरक्षित रहें और सकारात्मक रहें – यह वक्त भी गुजर जाएगा! 

(लेखक पॉलिसी बाजार डॉट कॉम के सीईओ हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।) 

 

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस