मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। Union Budget 2019: 5 जुलाई को देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2019 पेश किया, जिसमें कई बड़ी घोषणाएं हुईं और कई योजनाओं को लॉन्च किया गया है। यहां हम आपको एक्सपर्ट अमरजीत चोपड़ा से बजट 2019 को लेकर हुई बातचीत के बारे में बता रहे हैं। पूर्व ICAI प्रेसिडेंट अमरजीत चोपड़ा जो कि अर्थव्यस्था को लेकर काफी पकड़ रखते हैं, उन्होंने बजट पर अपनी राय रखी।

बजट को किस प्रकार समझ सकते हैं इसके सवाल पर क्या कहा?

इसके सवाल पर उन्होंने कहा कि यूनियन बजट में सरकार ने पिछले 5 सालों में अपनी बहुत सी उपलब्धियों को गिनवाया है जैसे उज्ज्वला योजना और स्वच्छ भारत योजना आदि के बारे में बताया और भविष्य में उन योजनाओं को कैसे आगे बढ़ाना है इसके बारे में बताया। हर गांव के हर घर में बिजली, बल्ब, पानी पहुंचाया जाएगा और ग्रामीण क्षेत्र में रोजाना 135 किमी लंबी सड़कें बनवाई जाएंगी। इस बजट में आम आदमी को कुछ राहत नहीं मिली है बल्कि पेट्रोल-डीजल पर 1-1 सेस लगने से कीमत में इजाफा होगा, जिससे थोड़ी मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। देश की इकोनॉमी के लिए भी यह बहुत सही है, क्योंकि देश की अर्थव्यस्था के लिए फंड की जरूरत है। देश में चुनाव एक साथ होने चाहिए, जिससे लॉन्ग टर्म गोल तैयार होंगे, क्योंकि बीच-बीच में चुनाव होने से बहुत पैसा खर्च होता है।

टैक्स के सवाल पर क्या कहा?

3-5 करोड़ की आय वालों पर 3 फीसद अतिरिक्त टैक्स बढ़ाया गया है और 5 करोड़ से अधिक आय वालों पर 7 फीसद अतिरिक्त टैक्स लगाया गया है, जोकि टैक्स रेट काफी हाई है। सरकार के रिसोर्स कैसे हैं, जिसको देखते हुए हायर क्लास पर टैक्स अधिक लगाया गया है और कमजोर तबके को सब्सिडी देकर मदद की जा रही है।

नकद लेन-देन कम करने के सवाल पर क्या कहा?

1 साल में 1 करोड़ से अधिक ट्रांजेक्शन पर 2 फीसद टीडीएस कटेगा जिससे व्यापारी वर्ग को कोई खास नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन इससे नकद ट्रांजेक्शन को कम किया जा सकेगा।

पैन की जगह आधार भी इस्तेमाल कर सकते हैं इसके सवाल पर क्या कहा?

पैन की जगह आधार का भी इस्तेमाल मान्य बनाकर सरकार ने बहुत अच्छा कदम उठाया है। आधार के बेस पर रिटर्न दाखिल करने से लोगों को काफी आसानी होगी और इस कदम की सराहना होनी चाहिए।

59 मिनट में 1 करोड़ का लोन मिलेगा इसके सवाल पर क्या कहा?

जहां बैंक 1 महीने में लोन देने के लिए तैयार नहीं रहते हैं, वहां बैंक इतने कम समय में लोन दे पाएंगे यह काम आसान नहीं होगा।

शेयर मार्केट क्यों डाउन हुआ और गोल्ड के दाम क्यों बढे इस सवाल पर क्या हुआ?

जिस इकोनॉमी में रियल एस्टेट के प्राइस घट रहे हैं और ग्रोथ भी अधिक न हो तो पैसा लगाया कहां जाएगा। गोल्ड की कीमत बढ़ने से निवेशकों का फायदा हो सकता है, क्योंकि यहां खपत काफी है तो सरकार का यह कदम ठीक है।

इस बजट को एक लाइन में क्या कहा जाएगा इसके सलाव पर क्या कहा?

एक्सपर्ट ने मोदी सरकार 2.0 के पहले यूनियन बजट को ठीक बताया है। बैकों और एनबीएफसी को राहत दी गई है, सरकार की मदद से ये काफी ग्रोथ करेंगी इस बजट से सभी को काफी आशा है। 

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप