नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को संसद में पेश किए गए बजट में 150 ट्रेनों को पब्लिक प्राइवेट पाटर्नरशिप (PPP) के तहत चलाने का ऐलान किया है, इसी के साथ उन्होंने ये घोषणा भी की कि कई पर्यटक स्थलों को जोड़ने के लिए आने वाले दिनों में बड़े पैमाने पर तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) ट्रेनें चलाई जाएंगी। फिलहाल देश में दो तेजस एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इन दोनों ट्रेनों को चलाए जाने से रेलवे को जो परिणाम मिला है उससे वो काफी उत्साहित है। इसी वजह से वो इन ट्रेनों की संख्या को बढ़ाने पर काम कर रहा है।

Budget 2020 Roundup: सीतारमण ने पेश किया आम आदमी का बजट; टैक्स में भारी छूट, किसानों-महिलाओं के लिए ऐलान

इस घोषणा के साथ उन्होंने ये इशारा भी कर दिया कि अब ट्रेनों में भी निजी एजेंसियां निवेश कर सकेगी और सरकार में भागीदारी निभा सकेंगी। रेलवे ने हाल ही में दूसरी तेजस ट्रेन भी चलाई है। ये तेजस अहमदाबाद से मुंबई सेंट्रल के बीच चलाई गई है। इस ट्रेन को इसी साल जनवरी में आम लोगों के लिए चलाया गया है। अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस अहमदाबाद से सुबह 6.40 बजे रवाना होती है और दोपहर लगभग 1.10 बजे मुंबई सेंटल पहुंचती है। इसी ट्रेन को मुंबई से दोपहर 3.40 बजे चलाया जाता है और ये रात 9.55 बजे वापस अहमदाबाद पहुंच जाती है। इसके रास्ते में नांदेड, वड़ोदरा, भरूच, सूरत, वापी और बोरीवली स्टेशन पड़ते हैं।

क्या-क्या हैं तेजस एक्सप्रेस में हैं सुविधाएं 

तेजस एक्सप्रेस में रेलवे की ओर से कई सारी सुविधाएं भी दी गई है जिसके कारण वो लोगों की पसंद बनी हुई है। दिल्ली से लखनऊ के बीच चलाई गई ट्रेन का रिस्पांस भी बेहतर रहा है जिसको देखते हुए दूसरी ट्रेन चलाई गई। अब इसी तरह से निजी क्षेत्र की भागीदारी से इनकी संख्या बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों के लिए वाई-फाई, सीसीटीवी कैमरा, कॉफी मशीन, एलसीडी स्क्रीन जैसी सुविधाएं मौजूद होंगी। फिलहाल भारतीय रेलवे देश की पहली प्राइवेट ट्रेन नई दिल्ली से लखनऊ के बीच चला रहा है।

नई दिल्ली-लखनऊ तेजस ने की मोटी कमाई 

नई दिल्ली से लखनऊ के बीच चल रही भारतीय रेलवे की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस का काफी अच्छा रिस्पांस मिला था। इस ट्रेन से रेलवे को ठीकठाक कमाई हुई थी। जानकारी के मुताबिक इस ट्रेन ने लगभग 70 लाख रुपये का फायदा कमाया है। रेलवे को तेजस एक्सप्रेस की टिकटों की बिक्री से एक महीने में 3.70 करोड़ रुपये की कमाई हुई है। ये ट्रेन सप्ताह में छह दिन चलती है।

तेजस ट्रेनों को खास सुविधा देने का भी विचार 

रेलवे तेजस ट्रेनों के माध्यम से इसमें सफर करने वाले यात्रियों को खास सुविधाएं देने पर भी विचार कर रहा है। अभी तक ट्रेन में सफर करने वाले पैसेंजर को खुद ही अपना सामान लेकर स्टेशन तक जाना होता है मगर तेजस में आपको अपने सामान को लेकर खास सुविधा दी जाएगी। इसके तहत यदि आपने टिकट बुक कर लिया है और टिकट कन्फर्म है तो रेलवे आपका सामान आपके घर से लेगा, फिर उसे आपकी सीट तक पहुंचा देगा। इसी तरह आपको जहां जाना है वहां ट्रेन के पहुंचने पर स्टेशन से आपका सामान आपके घर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी भी रेलवे की ही होगी। ये सुविधा बहुत ही मामूली शुल्क में मिल जाएगी।

इस सुविधा को भी पहले तेजस ट्रेनों में शुरू करने की तैयारी की जा रही है, इसके लिए कई निजी कंपनियों से बात की जा रही है। यदि ये सुविधा शुरू हो गई तो इन ट्रेनों में जो वरिष्ठ नागरिक या अकेली महिलाएं सफर करती हैं तो उनके लिए बहुत ही सुविधा हो जाएगी। इन लोगों को अपना सामान उठाने की परेशानी से राहत मिल जाएगी। इस तरह से भी निजी कंपनियों को रेलवे में शामिल किया जा सकेगा।  

Posted By: Vinay Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस