नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) 1 फरवरी 2022 यानि आज अपना चौथा बजट पेश कर रही हैं। बजट भाषण शुरू करने से पहले FM ने Covid mahamari में जान गंवाने वाले लोगों के प्रति संवेदना प्रकट की। उन्‍होंने अपने बजट भाषण में कहा कि चालू वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि 9.2% रहने का अनुमान है, जो सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है।

FM ने कहा कि #AatmaNirbharBharat को तेज करने के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना को बेहतर प्रतिक्रिया मिली है। इसमें अगले पांच वर्षों के दौरान 60 लाख नए रोजगार और 30 लाख करोड़ के अतिरिक्त उत्पादन की क्षमता है। नई सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम (पीएसई) नीति को लागू करने की दिशा में Air India का रणनीतिक हस्तांतरण पूरा हो चुका है।

उन्‍होंने बताया कि नीलांचल इस्पात निगम के लिए रणनीतिक भागीदार का चयन किया गया है, एलआईसी का सार्वजनिक निर्गम शीघ्र ही अपेक्षित है, अन्य 2022-23 के लिए प्रक्रिया में हैं।नेशनल बैंक फॉर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट, नेशनल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी ने गतिविधियां शुरू कर दी हैं। Budget 2021 ने सार्वजनिक निवेश के प्रावधान में तेज वृद्धि प्रदान की थी।

स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करना

उन्‍होंने कहा कि स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करना, तेजी से टीकाकरण कार्यक्रम चलाना और देश भर में COVID19 Pandemic की वर्तमान लहर में व्‍यावहारिक रवैया अपनाया जा रहा है।

मैक्रोइकॉनॉमिक ग्रोथ फोकस

उन्‍होंने कहा कि अमृत ​​काल के दौरान, हमारी सरकार का लक्ष्य भारत @100 के लिए निर्धारित दृष्टिकोण को प्राप्त करना है। हम मैक्रोइकॉनॉमिक ग्रोथ फोकस + माइक्रोइकॉनॉमिक वेलफेयर फोकस के जरिए इसे प्राप्‍त करेंगे। Budget2022 अगले 25 साल के अमृत काल पर अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए नींव रखना चाहता है।

राष्‍ट्रपति से की थी मुलाकात

संसद जाने से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी और भागवत किशनराव कराड और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने केंद्रीय बजट 2022-23 पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की।

Edited By: Ashish Deep