नई दिल्ली, प्रेट्र। Union Budget 2020: सीबीआइ के लिए केंद्रीय बजट में 802 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। भ्रष्टाचार के बड़े मामलों को देखने वाली इस जांच एजेंसी में इस बार महज चार करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि सीमित मानव संसाधनों के साथ जांच एजेंसी विदेश में प्रत्यर्पण और भ्रष्टाचार के कई मामलों की जांच कर रही है। इसमें बैंकों के घोटालों से लेकर अपराध के विशेष और घरेलू मामले भी शामिल हैं।

सीबीआइ के लिए फंड में यह 0.50 फीसद की बढ़ोतरी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए बताया कि पिछले साल सीबीआइ को 798 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे जो बढ़कर इस बार 802.19 करोड़ रुपये हो गए हैं। सीबीआइ के लिए फंड में यह 0.50 फीसद की बढ़ोतरी है।

दरअसल पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 में सीबीआइ को शुरुआत में 781.01 करोड़ रुपये ही आवंटित किए गए जो बाद में बढ़ाकर 798 करोड़ रुपये किए गए थे। इस बजट में सीबीआइ की जांच संबंधी मामलों के खर्च के अलावा, ई-गर्वनेंस, अधिकारियों के प्रशिक्षण में आधुनिकीकरण भी शामिल है। इसी फंड से इसमें तकनीकी और फॉरेंसिक इकाइयां भी स्थापित की जाएंगी।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस