नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। जिस देश में चाय बेचने वाला गरीब बच्चा देश की कमान संभालते हुए एक दिन प्रधानमंत्री बन जाता है, तो क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि यहां सबसे पहला बजट किस शख्स ने पेश किया होगा। बहुत कम लोगों को इस बात की जानकारी होगी और जानकार हैरानी भी होगी कि देश का पहला बजट पेश करने वाला भी साधारण-सा टोपी बेचने वाला एक शख्स था।

जी हां, हमारे देश का पहला बजट आज से सालों पहले ही पेश किया जा चुका था। बजट का इतिहास देश में आजादी से भी पुराना है। भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था, जबकि पहला बजट इससे कई पहले साल 1860 में ही पेश हो चुका था।

वित्त मंत्री 1 फरवरी को पेश करेंगी आम बजट

दरअसल, अगले महीने की शुरुआत के साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण Union Budget 2023 पेश करने जा रही हैं। वहीं एक सवाल जो हर किसी के जेहन में आ रहा है कि वह यही है कि आखिर भारत का पहला बजट पेश किसने पेश किया होगा। आपके इन्हीं सवालों का जवाब हम इस आर्टिकल में देने की कोशिश करेंगे।

स्कॉटिश अर्थशास्त्री विलसम को वाणिज्य में थी रुचि

देश का पहला बजट जेम्स विलसन नाम के एक स्कॉटिश अर्थशास्त्री ने पेश किया था। उनका संबंध एक टोपी बेचने वाले परिवार से था। बचपन में जेम्स विलसन खुद भी इसी काम को करते थे, लेकिन उनकी असाधारण शक्तियों के बदौलत वे अपने जीवन में इस मुकाम पर पहुंचे कि उन्हें देश का पहला बजट पेश करने का अवसर मिला।

जेम्स विलसन के विषय में बताया जाता है कि उनकी रुचि अर्थशास्त्र और वाणिज्य में थी। साल 1860 में जेम्स विलसन इंडियन काउंसिल के वित्त सदस्य के पद थे।

देश का पहला बजट पेश करने के अलावा जेम्स विलसन का नाम चार्टेड बैंक ऑफ इंडिया, ऑस्ट्रेलिया और चाइना के संस्थापक के रूप में भी जाना जाता है।

जेम्स विलसन की गिनती इतिहास के महान अर्थशास्त्रियों में होती है। उनके अद्भुत ज्ञान को देखते हुए ही वे भारत की आजादी से 100 साल पहले ही सेकरेट्री ऑफ द बोर्ड ऑफ कंट्रोल के पद पर नियुक्त किए जा चुके थे। जेम्स 1860 को इस दुनिया को अलविदा कह गए थे।

ये भी पढ़ेंः iOS 16.3 Update: आईफोन यूजर्स के लिए एप्पल ने रोल आउट किया नया अपडेट, मिलेंगे ये फीचर्स

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट