नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Union Budget को शुक्रवार वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने लोकसभा में पेश कर दिया है। PM Narendra Modi की अगुवाई वाली मोदी सरकार ने अपने पहले पूर्ण बजट में पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है। सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 1-1 फीसद एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। ऐसे में अब एक और बार पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ जाएंगी। दरअसल अक्टूबर 2018 में राज्य में होने वाली चुनावों से पहले तत्कालीन वित्तमंत्री अरूण जेटली (Arun Jaitley) ने फ्यूल पर 1.50 रुपये की एक्साइज ड्यूटी घटाई थी, जिसके बाद निर्मला सीतारमण ने अपने पहले बजट में स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी और रोड एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सेस को पेट्रोल और डीजल पर 1-1 रुपये बढ़ा दिया है।

दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 70.51 रुपये प्रति लीटर है। इसमें आप 36.40 टैक्स और डीलर कमिशन का देते हैं। इसमें 17.98 रुपये एक्साइज ड्यूटी, 3.54 रुपये डीलर कमिशन और 14.98 रुपये वैट का है। बजट के बाद अब इन सभी टैक्सों में 2 रुपये की बढ़ोतरी हो जाएगी।

यहां आपको बता दें कि फ्यूल पंप की लोकेशन के हिसाब से डीलर कमिशन में थोड़ा बदलाव होता है। पेट्रोल के लिए लिए डीलर कमिशन 3 से 3.65 रुपये प्रति लीटर होती है। वहीं, डीजल के लिए यह 2 से 2.62 रुपये प्रति लीटर होती है।

एक्साइज ड्यूटी में क्या हुए थे बदलाव?

केंद्र सरकार ने नवंबर 2014 से लेकर जनवरी 2016 तक पेट्रोल पर Rs 11.77 और डीजल पर 13.47 रुपये प्रति लीटर बढ़ोत्तरी की थी। इसके बाद सरकार ने अक्टूबर 2017 में 2 रुपये प्रति लीटर की कटौती की थी। अक्टूबर 2018 में सरकार ने 1.50 रुपये प्रति लीटर की दोबारा कटौती की थी।

Posted By: Shridhar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस