नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय कंपनियां केंद्रीय बजट FY21-22 के बारे में आशावादी है। Deloitte द्वारा किए गए एक हालिया सर्वेक्षण के अनुसार, उत्तरदाताओं को अर्थव्यवस्था, व्यापार और उद्योग के लिए बजट में एक मजबूत प्रोत्साहन की उम्मीद है। 180 सर्वेक्षण प्रतिभागियों में से 68% उद्योग जगत के लीडर्स भारत के आर्थिक पुनरुद्धार के बारे में सकारात्मक हैं। गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को आम बजट पेश करने जा रही हैं। वित्त मंत्री ने स्वयं कहा है कि यह बजट 100 वर्षों का सबसे अच्छा बजट होगा।

सर्वे के अनुसार, उत्तरदाताओं का मानना ​​है कि बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान, सरकार के प्रोत्साहन पैकेज, अन्य नीतिगत बदलाव, बुनियादी ढांचे पर ध्यान केंद्रित करना और डिजिटलीकरण पर निरंतर प्रयास भारतीय अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित और विकसित करने में मदद करने वाले कुछ प्रमुख क्षेत्र हैं।

सर्वेक्षण के उत्तरदाताओं में से लगभग 60% महसूस करते हैं कि आत्मनिर्भरता को प्राप्त करने के उद्देश्य से सरकार का फ्लैगशिप कार्यक्रम आत्मनिर्भर भारत अच्छा रहा है। उत्तरदाताओं ने यह भी कहा कि आर एंड डी प्रोत्साहन प्रदान करना, विभिन्न क्षेत्रों में एफडीआई की सीमा बढ़ाना और इसके साथ-साथ इसकी प्रक्रियाओं को और सरल बनाना और आपूर्ति श्रृंखला सुधार इस कार्यक्रम की प्रभावशीलता को और अधिक बढ़ाएंगे। उत्तरदाताओं ने माना कि एमएसएमई को क्रेडिट समर्थन बढ़ाने से उद्योग को जल्द ही रिकवरी करने में मदद मिलेगी।

उत्तरदाता मानते हैं कि नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन (एनआईपी) के तहत उल्लिखित समय पर और पर्याप्त वित्तपोषण के साथ बुनियादी ढांचे के क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना, इस बजट में एक प्राथमिकता वाला क्षेत्र होना चाहिए। लगभग 60% सर्वेक्षण उत्तरदाताओं ने माना किया कि बुनियादी ढांचा निवेश को प्रोत्साहित करने से इस क्षेत्र को वांछित गति मिलेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021