नई दिल्ली, जेएनएन। Budget 2020 : कहा जाता रहा है कि नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा झटका छोटे और मध्यम उद्योगों को ही लगा था। अब सरकार ने इस सेक्टर को उबारने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं। निर्मला सीतारमण ने बजट में घोषणा की कि इंडस्ट्री, कॉमर्स के विस्तार के लिए 27300 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। जाहिर तौर पर इससे इस सेक्टर को नई ताकत मिलेगी। वहीं एमएसएमई उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाने की भी बात बजट में की गई है। एमएसएमई को देरी से होने वाले पेमेंट रोकने के लिए ऐप बेस्ड इनवॉयस।

Budget 2020 Roundup: सीतारमण ने पेश किया आम आदमी का बजट; टैक्स में भारी छूट, किसानों-महिलाओं के लिए ऐलान

मोबाइल हब बनेगा भारत

निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत को अब मोबाइल हब बनाया जाएगा। मेडिकल उपकरणों के लिए भी नई स्कीम लाएंगे। सेमी कंडक्टर और मेडिकल डिवाइस बनाने पर भी फोकस किया जाएगा। हर जिले को एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित करेंगे। 

छोटे एक्सपोर्टर्स के लिए NIRVIK स्कीम लाएंगे: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की है कि सरकार एक 'निर्विक' ( निर्यात ऋण विकास योजना) योजना लाने जा रही है। इसके तहत निवेशकों को लोन दिया जाएगा। साथ ही इस योजना में 90 फीसदी तक इंश्योरेंस दिया जाएगा। इसके लिए सरकार इलेक्ट्रॉनिक मैन्यूफैक्चरिंग इंडस्ट्री में ज्यादा काम करेगी और मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफेक्चर को बढ़ावा दिया जाएगा। 

सिंगल इंवेस्टमेंट क्लियरेंस विंडो

वित्त मंत्री ने बजट में कहा कि निवेशकों को फायदा पहुंचाने के लिए 'निवेश क्लियरेंस सेल' बनाया जाएगा। इस सेल से निवेशकों को काफी फायदा मिलेगा और कई दिक्कत दूर होंगी। इस सेल के जरिए निवेशकों को सिंगल विंडो क्लियरेंस देने की प्रक्रिया को बढ़ावा दिया जाएगा।

Edited By: Vineet Sharan