नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। वित्त वर्ष 2020 21- का बजट शनिवार 1 फरवरी को पेश किया जाएगा। इस बार का बजट भी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। यह उनका दूसरा बजट होगा। जुलाई 2019 का बजट भी निर्मला सीतारमण ने पेश किया था। यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट होगा। हर बार की तरह इस बार भी बजट से लोगों को खासी उम्मीद है। कई बार बजट सिर्फ योजनाओं की सौगात और लोगों को राहत देने के लिए ही नहीं बल्कि यह पेश करने वाले वित्त मंत्रियों के कारण भी चर्चा में आ जाता है। भारतीय बजट की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। इसमें एक नाम जुड़ता है मोरारजी देसाई का। वह एक ऐसे वित्त मंत्री रहे जिन्होंने सबसे ज्यादा बार बजट पेश किया। बजट पेश करने के अलावा भी उनके नाम कई दिलचस्प रिकॉर्ड दर्ज हैं।

पूर्व वित्त मंत्री मोरारजी देसाई के नाम रिकॉर्ड: मोरारजी देसाई इकलौते ऐसे पूर्व प्रधानमंत्री थे जिन्होंने सबसे ज्यादा बार बजट पेश किया, यही नहीं दो बार ऐसे मौके आए जब उन्होंने अपने जन्मदिन के दिन बजट पेश किया। दरअसल, लीप इयर को छोड़ दें तो फरवरी 28 दिन का होता है, लेकिन मोरारजी का जन्म 29 फरवरी को हुआ था। और उन्होंने दो बार बजट 29 फरवरी को पेश किया।

पहले बजट की कहानी: भारत ने स्वतंत्रता मिलने के बाद तीन महीनों के भीतर बजट पेश कर दिया था, लेकिन यह देश का पहला पूर्ण बजट नहीं था। असल में यह अर्थव्यवस्था की समीक्षा थी। इस बजट में किसी कर का प्रस्ताव पेश नहीं किया गया था क्योंकि 1948-49 का बजट सिर्फ 95 दिन दूर था। बता दें कि पहले बजट के कुछ दिन बाद प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के साथ मनमुटाव के कारण शेट्टी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। शेट्टी के जाने के बाद के सी नियोगी ने 35 दिनों के लिए वित्त मंत्रालय की कमान संभाली।

 

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस