नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अमेरिकी सरकार की ओर से आयात शुल्क बढ़ाए जाने के हालिया फैसले पर वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूटीओ) के सदस्यों ने चिंता जताई है। आपको बता दें कि अमेरिका ने हाल में स्टील और एल्युमिनियम पर आयात शुल्क में इजाफा करने का फैसला किया था।

कई सदस्य देशों ने यह डर व्यक्त किया है कि एल्यूमिनियम और इस्पात पर आयात शुल्क में वृद्धि करने के अमेरिकी प्रशासन के फैसले से व्यापार युद्ध बढ़ने की संभावना तेज है क्योंकि अन्य देश प्रतिबंधात्मक आयात उपायों पर प्रतिक्रिया देने में सक्षम हैं।

इस दो दिवसीय बैठक में 53 देशों के प्रतिनिधियों ने जो कि वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन के सदस्स हैं ने हिस्सा लिया, इसमें अमेरिका, चीन और ईयू के देश शामिल रहे। इस सम्मेलन में भारत में पाकिस्तान उच्चायोग के एक प्रतिनिधि ने भी भाग लिया। विश्व व्यापार संगठन के अपीलीय निकाय के सदस्यों की नियुक्ति, दोहा के विकास का एजेंडा, मत्स्य पालन के लिए सब्सिडी, ई-कॉमर्स, निवेश सुविधाएं और जेंडर संबंधी मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दो दिवसीय बैठक में डब्ल्यू सदस्यों के अलावा यहां अनौपचारिक मंत्री सम्मेलन में खाद्य सुरक्षा और विकासशील देशों के लिए विशेष उपचार संबंधी मुद्दों पर चर्चा हुई।

ट्रंप का फैसला: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी संरक्षणवादी नीतियों को आगे बढ़ाते हुए स्टील और एल्युमिनियम पर आयात शुल्क बढ़ाए जाने वाले प्रस्ताव पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। इस फैसले के बाद अमेरिका स्टील के आयात पर 25 फीसद व एल्युमीनियम पर 10 फीसद टैक्स लगाएगा। हालांकि इस फैसले से मैक्सिको और कनाडा जैसे मुख्य साझेदार देशों को बाहर रखा गया है।

Posted By: Praveen Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस