दावोस, पीटीआइ। विश्व आर्थिक मंच (WEF) के वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को भारत को निवेश के सबसे बेहतर स्थानों में से एक बताया। उन्होंने दुनियाभर के कारोबारियों को भारत आने और भारत के साथ आगे बढ़ने का न्योता दिया। पीयूष गोयल शनिवार को दावोस पहुंचे थे। वह दुनियाभर के कारोबारियों से अलग-अलग मुलाकात कर रहे हैं। इन मुलाकातों के दौरान गोयल ने भारत में कारोबारी संभावनाओं और अवसरों की जानकारी दी।

मंगलवार को एक सत्र में केंद्रीय वाणिज्‍य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यहां मौजूद कारोबारियों में भारत में निवेश की इतनी इच्छा है कि उनको अपने कैलेंडर में समायोजित करना भी काफी कठिन हो रहा है। चूंकि वे सभी बड़े निवेशक हैं, ऐसे में सभी को समायोजित करने का प्रयास किया जा रहा है।

भारत-अमेरिका भागीदारी पर चर्चा

इससे पहले सोमवार शाम को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अमेरिकी प्रतिनिधि जान कैरी से मुलाकात की। इस मुलाकात में दोनों ने भारत-अमेरिका क्लाइमेट और क्लीन एनर्जी एजेंडा-2030 भागीदारी के भविष्य पर चर्चा की। इस बैठक में डोयचे बैंक (Deutsche Bank) के चेयरमैन एलेक्जेंडर आर वायनेडट्स ने बताया कि वित्तीय संस्थान भारत सरकार के सतत विकास के लक्ष्य को पाने में कैसे अहम भूमिका निभा सकते हैं।

आर्थिक लाभ के लिए सुरक्षा का व्यापार न करें

नाटो महासचिवनाटो महासचिव जेन्स स्टोल्टनबर्ग ने मंगलवार को एक सत्र में कहा कि हमें आर्थिक लाभ के लिए सुरक्षा का व्यापार नहीं करना चाहिए। उन्होंने 5जी नेटवर्क में चीनी प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल और रूसी गैस के लिए नार्ड स्ट्रीम 2 पाइपलाइन पर बहस करने की जरूरत जताई। उन्होंने कहा कि हमें यह स्वीकार करना चाहिए कि हमारे पास आर्थिक विकल्प हैं। सुरक्षा के लिए व्यापार के मुकाबले आजादी जरूरी है।

यह भी पढ़ें: टूरिस्‍ट बनकर निकलने से पहले करें गौर, आनलाइन फ्राड के झांसे में आने की आशंका 67 प्रतिशत बढ़ी

यह भी पढ़ें: Duty free Import: सरकार ने महंगाई पर अंकुश लगाने के लिए खाद्य तेलों से आयात शुल्क हटाया, 2024 तक बिना शुल्क के हो सकेगा आयात

Edited By: Manish Mishra