नई दिल्ली, पीटीआइ। सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में तीन गुना से अधिक के उछाल के साथ 1,120.15 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बैंक को पिछले साल अप्रैल से जून तिमाही के बीच 340.95 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। हालांकि, तिमाही आधार पर देखा जाए तो बैंक के शुद्ध लाभ में कमी आई है। बैंक को जनवरी से मार्च तिमाही के दौरान 1,269.18 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि आलोच्य तिमाही में बैंक की कुल आमदनी भी बढ़कर 20,666.62 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में बैंक को 20,487.01 करोड़ रुपये की आय हुई थी।

आलोच्य तिमाही में फंसे हुए कर्ज के बदले बैंक की प्रोविजनिंग 3,593.33 करोड़ रुपये पर रही। पिछले साल की समान तिमाही में यह आंकड़ा 3,590.22 करोड़ रुपये पर रहा था।

बैंक ने बताया है कि आलोच्य तिमाही में ग्रॉस एनपीए भी घटकर कुल लोन के 13.60 फीसद पर आ गया है, जो जून, 2020 तिमाही में 14.95 फीसद पर रहा था। नेट एनपीए भी घटकर 4.69 फीसद पर आ गया। पिछले साल की समान तिमाही में बैंक का नेट एनपीए 4.97 फीसद पर रहा था।

Home First Finance का मुनाफा 9.1 फीसद घटा, आमदनी में बढ़ोत्तरी

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में Home First Finance Company का शुद्ध लाभ 9.1 फीसद की गिरावट के साथ 35.1 करोड़ रुपये पर रह गया। कंपनी को पिछले साल की समान तिमाही में 38.61 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। आलोच्य तिमाही में कंपनी की कुल आमदनी 5.8 फीसद की बढ़ोत्तरी के साथ 142 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। कंपनी को पिछले साल अप्रैल से जून तिमाही के बीच 134 करोड़ रुपये की आमदनी हुई थी।

कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ मनोज विश्वनाथन ने कहा, ''वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में हमारा प्रदर्शन इस चीज को देखते हुए मजबूत रहा कि हम सभी को कोविड-19 की दूसरी लहर का सामना करना पड़ा। सालाना आधार पर हमारा एयूएम ग्रोथ 18.5 फीसद का रहा। हम ग्रोथ लगातार जारी रहने की उम्मीद कर रहे हैं...।''

Edited By: Ankit Kumar