नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश के यात्रा और पर्यटन क्षेत्र ने साल 2017 में 25.9 मिलियन नौकरियों का सृजन किया है। इस सेक्टर ने इसी साल देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 75.8 बिलियन डॉलर (लगभग 5 लाख करोड़ रुपये) का योगदान दिया। भारतीय उद्योग बॉडी और सर्विस फर्म केपीएमजी की ओर से जारी रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

इस रिपोर्ट में कहा गया, “25.9 मिलियन नौकरियों के सृजन के साथ देश का यात्रा एवं पर्यटन विभाग प्रत्यक्ष रूप से सबसे ज्यादा नौकरियां देने वाला क्षेत्र रहा है।” एक्सपेडिशन 3.0: ट्रैवल एंड हॉस्पिटालिटी गॉन डिजिटल नामक शीर्षक से जारी की गई रिपोर्ट जिसे फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और केपीएमजी इंडिया ने मिलकर तैयार किया है दो बड़े क्षेत्रों में रुझानों और चुनौतियों का मूल्यांकन करती है।

इसमें कहा गया, “यात्रा, पर्यटन और आतिथ्य (हॉस्पिटालिटी) भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों में से हैं और इसने साल 2017 में विदेशी पर्यटक आगमन के मामले में 15.6 फीसद (सालाना आधार पर) की स्थिर वृद्धि दर दर्ज की है।”

मोबाइल एप्लीकेशन, सोशल मीडिया, बिग डेटा, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और वर्चुअल/ ऑगुमेंटेड रियलिटी की मदद से ट्रैवल इंडस्ट्री (यात्रा उद्योग) के भविष्य को आकार मिलने की संभावना है। ऑनलाइन बुकिंग की बिक्री के 2017 से 2021 तक 14.8 फीसद की वार्षिक वृद्धि दर से बढ़ने की संभावना है। इस रिपोर्ट में ऐसा अनुमान लगाया गया है।

Posted By: Praveen Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस