नई दिल्ली, पीटीआइ। जैसे-जैसे तीसरे चरण के लॉकडाउन की आखिरी तारीख पास आती जा रही है, वैसे ही देश में शीर्ष कंपनियां अपना परिचालन फिर से शुरू कर रही हैं। ऑटोमोबाइल निर्माता मारुति सुजुकी और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र की दिग्गज सैमसंग से लेकर आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इंफोसिस ने अपने कारखानों और कार्यालयों को फिर से खोल दिया है। सरकार ने सख्त दिशानिर्देशों और शर्तों के साथ व्यवसायों को फिर से परिचालन शुरू करने की अनुमति दी है।

मौजूदा हालातों को देखते हुए कंपनियां भी कोरोना वायरस से पूर्व की परिचालन रफ्तार पाने के लिए कोई जल्दबाजी नहीं कर रही हैं। इसके बजाय वे कर्मचारियों की ताकत को कैलिब्रेट कर रही हैं, क्योंकि वे जानती हैं कि संक्रमण का कोई भी मामला काफी महंगा पड़ सकता है। कंपनियों का कहना है कि कर्मचारियों की सुरक्षा और कार्यस्थल की स्वच्छता पर उनका खासा ध्यान है।

मारुति ने मंगलवार को हरियाणा के अपने मानेसर प्लांट में परिचालन को फिर से शुरू कर दिया है। वहीं, इंफोसिस ने कुछ शहरों में 5 फीसद कर्मचारियों के साथ अपने कार्यालय खोले हैं। कंपनी की धीरे-धीरे कर्मचारियों की संख्या को 40 फीसद तक बढ़ाने की योजना है।

भारत में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के कार्यालयों में अभी एक फीसद से भी कम कर्मचारी काम कर रहे हैं। महिंद्रा एंड महिंद्रा ने भी अपने कारखानों में सीमित संख्या में श्रमिकों के साथ परिचालन शुरू कर दिया है। फ्लिपकार्ट, पैनासोनिक इंडिया, व्हर्लपूल और डाबर जैसी की कंपनियों ने सीमित संख्या में कर्मचारियों के साथ परिचालन फिर से शुरू करने की योजना बनाई है।

टाटा समूह के स्वामित्व वाले आभूषण ब्रांड तनिष्क ने चरणबद्ध तरीके से देशभर में अपने 328 स्टोर्स को फिर से खोलने की योजना की घोषणा की है। गौरतलब है कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 25 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया था। इसे दो बार बढ़ाया गया है। तीसरे चरण का लॉकडाउन 17 मई को पूरा हो रहा है।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस