नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारतीय समूह टाटा संस जेट एयरवेज को लेकर काफी सतर्कता बरत रहा है क्योंकि वह इस एयरलाइन में नियंत्रण हिस्सेदारी खरीदने की संभावनाएं तलाश रहा है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मामले की जानकारी रखने वाले दो सूत्रों के जरिए यह जानकारी सामने आई है।

सूत्रों के मुताबिक टाटा संस के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर सौरभ अग्रवाल इस बातचीत की अगुवाई कर रहे हैं जबकि जेट एयरवेज का प्रतिनिधित्व इसके चेयरमैन नरेश अग्रवाल कर रहे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक सूत्र ने बताया, "'टाटा संस की इन हाउस टीम वर्तमान समय में जेट एयरवेज के साथ बातचीत कर रही है जिसके अगले कुछ हफ्ते तक जारी रहने की उम्मीद है।" हालांकि जब इस बारे में टाटा संस और जेट एयरवेज से संपर्क साधने की कोशिश की गई तो इन दोनों की ओर से तुरंत कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

बीते दिन जेट एयरवेज के तिमाही नतीजे घोषित हुए हैं जिसमें उसे लगातार तीसरी तिमाही घाटे का सामना करना पड़ा है। इस पर जेट एयरवेज का कहना है कि कम लाभ देने वाले रूट्स पर उसने अपनी फ्लाइट्स की संख्या को कम करने की योजना बनाई है और साथ ही वह अधिक आकर्षक बाजारों में अपनी क्षमता को बढ़ाएगी।

गौरतलब है कि तेजी से बढ़ती तेल की कीमतें, तेल पर लगने वाला ऊंचा कर, कमजोर रुपया, सस्ता किराया और कीमतों की प्रतिस्पर्धात्मकता ने दुनिया के तेजी से बढ़ते एविएशन मार्केट के लाभ को कम करने का काम किया है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Praveen Dwivedi