नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। बाकी कंपनियों की तरह वाहन निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने भी अपनी तिमाही रिपोर्ट को जारी कर दी है। टाटा के मुताबिक, एक बार फिर कमबैक करते हुए वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी को 3,043 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। यह आंकड़ा पिछले वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 1,451 करोड़ रुपये का था, जिससे टाटा मोटर्स ने घाटा दर्ज किया था।

क्या कहते हैं आंकड़े?

टाटा मोटर्स ने एक अपने फाइलिंग में कहा है कि अक्टूबर से दिसंबर के बीच कंपनी की कुल आय बढ़कर 88,489 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले की अवधि में 72,229 करोड़ रुपये थी। स्टैंडअलोन आधार पर, टाटा मोटर्स ने तीसरी तिमाही में 506 करोड़ रुपये का फायदा दर्ज किया, जो 2021-22 की अक्टूबर-दिसंबर अवधि में 176 करोड़ रुपये था। इस तरह यह मुनाफा लगभग दोगुने से अधिक है।

बाजारों में रही मजबूत बिक्री

साल की तीसरी तिमाही में कंपनी ने जबरदस्त बिक्री की। इसमें सबसे ज्यादा बिक्री होने वाले मॉडलों में जगुआर लैंड रोवर (JLR) रहा। जगुआर लैंड रोवर का राजस्व पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 28 प्रतिशत बढ़कर 6 अरब पाउंड हो गया। वहीं, टैक्स से पहले का लाभ तीसरी तिमाही में 26.5 करोड़ पाउंड रहा है। एक साल पहले यह आंकड़ा 90 लाख पाउंड था, जिससे कंपनी को नुकसान हुआ था।

टाटा मोटर्स के शेयर

इसी महीने टाटा मोटर्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी JLR द्वारा बिक्री डाटा जारी किया गया था, जिसके बाद कंपनी के शेयर 6.12 प्रतिशत बढ़कर 413.30 रुपये पर कारोबार करने लग गए थे। टाटा मोटर्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी जगुआर लैंड रोवर की मजबूत मांग और चिप की आपूर्ति में सुधार के कारण तीसरी तिमाही में थोक बिक्री में 15 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। हालांकि, आज टाटा मोटर्स के शेयर में गिरावट देखी गई है। कंपनी के शेयर बुधवार को बीएसई पर 0.73 प्रतिशत की गिरावट के साथ 419 रुपये पर बंद हुए। 

ये भी पढ़ें-

Budget Session: सड़क परिवहन में क्षमता निर्माण, रखरखाव और सुरक्षा को प्राथमिकता मिलने के आसार

Budget 2023: किसने पेश किया था पहला बजट, कब हुआ सबसे लंबा भाषण, जानें ऐसे सभी रोचक तथ्य

 

Edited By: Sonali Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट