नई दिल्ली: टाटा ग्रुप के भीतर जारी घमासान के बीच आज टाटा की एक और कंपनी से मिस्त्री की विदाई हो गई। साइरस मिस्त्री को अब टाटा ग्लोबल बेबरेज के चेयरमैन पद से हटाया गया है। इससे पहले मिस्त्री को टीसीएस के चेयरमैन पद से हटाया गया था। गौरतलब है कि बीते 24 अक्टूबर साइरस मिस्त्री को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाया गया था।

साइरस मिस्त्री ने किया टाटा पर सीधा अटैक:

बीते माह टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए गए सायरस मिस्त्री ने पहली बार टाटा ग्रुप के अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा पर सीधा अटैक किया है। टाटा ग्रुप के आरोपों का जवाब देते हुए मिस्त्री ने कहा कि रतन टाटा की ओर से कॉरपोरेट जेट के इस्तेमाल से खर्च ग्रुप का खर्च काफी बढ़ गया। मिस्त्री ने कहा कि टाटा ग्रुप इमेरिटस रतन टाटा के ऑफिस खर्च का पूरा बोझ उठा रही थी और उनके कॉरपोरेट जेट के इस्तेमाल पर बड़ी रकम खर्च हुई थी। मिस्त्री ने कहा कि उनके चेयरमैन बनने से पहले कांट्रोवर्शियल लॉबिइस्ट नीरा राडिया की वैष्णवी कम्युनिकेशंस को रिप्लेस करते हुए अरुण नंदा की रेडिफ्युजन एडलमैन लाने से ग्रुप की कॉस्ट 40 करोड़ से बढ़कर 60 करोड़ रुपए हो गई।

आज जेटली से मिले रतन टाटा:

टाटा ग्रुप के शीर्ष पद को लेकर जारी घमासान के बीच आज रतन टाटा ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की। बैठक के बाद किसी ने भी इसको लेकर किसी भी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की। जानकारी के मुताबिक दोनों के बीच यह मुलाकात करीब आधे घंटे तक चली। जानकारी के मुताबिक केंद्रीय वित्त मंत्री और टाटा ग्रुप के अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा के बीच करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई। इस बैठक के बाद टाटा ने कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी। उन्होंने कहा कि इस पर अभी बात करना उनके लिए सहज नहीं है।

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप