नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई है, जिसमें बढ़ते किराये और उड़ानें रद्द होने की समस्याएं प्रमुखता से शामिल है। वहीं आज जेट बोर्ड की अहम बैठक से पहले कंपनी के शेयर्स में 3 फीसद तक की गिरावट देखने को मिली है।

प्रभु ने नागरिक उड्डयन सचिव प्रदीप सिंह खरोला से कहा है कि यात्रियों के अधिकारों और सुरक्षा की रक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। जेट एयरवेज वर्तमान में गंभीर नकदी संकट से जूझ रही है और उसके 10 से भी कम विमान परिचालन में हैं। इसके अलावा उसे अंतरर्राष्ट्रीय उड़ानों को भी अस्थायी तौर पर कुछ समय के लिए बंद करने पर मजबूर होना पड़ा है।

प्रभु ने एक ट्वीट में लिखा, "जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा करने के लिए नागर विमान सचिव को निर्देश दिया गया है। इन मुद्दों में बढ़ता किराया और उड़ानों का रद्द होना शामिल है।" इसके अलावा सचिव से यह भी कहा दया है कि यात्रियों के अधिकारों और सुरक्षा के मुद्दे पर जरूरी कदम उठाए जाएं। प्रभु ने कहा है कि सभी हितधारकों के भले को ध्यान में रखकर काम किया जाए।

बोर्ड मीटिंग से पहले लुढ़के कंपनी के शेयर: मंगलवार के कारोबार में सुबह जेट एयरवेज के शेयर्स में 3 फीसद की गिरावट देखने को मिली। आज की बैठक में प्रबंधन एयरलाइन के लिए अगले कदम पर बोर्ड से मार्गदर्शन मांगेगा। आज सुबह 11 बजकर 25 मिनट पर जेट एयरवेज इंडिया लिमिटेड का शेयर 3.72 फीसद की गिरावट के साथ 252 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा था।

Posted By: Praveen Dwivedi