नई दिल्‍ली, पीटीआइ। मुनाफावसूली शेयर बाजारों पर हावी हो रही है। मंगलवार को गिरावट आने के बाद बुधवार को Sensex की शुरुआत कमजोर रही। BSE का मेन इंडेक्‍स 61,800.07 अंक पर खुलने के बाद नीचे चला गया। खबर लिखे जाने तक यह 77 अंक नीचे 61639 अंक पर कारोबार कर रहा था। Nestle India, Asian Paint समेत एक दर्जन शेयर ही हरे निशान पर थे। उधर, Nifty 50 की भी हालत पतली दिखी। NSE का मेन इंडेक्‍स 44 अंक नीचे 18374 अंक पर कारोबार कर रहा था।

इससे पहले मंगलवार को सात कारोबारी सत्रों से जारी तेजी का सिलसिला थम गया। बाजार के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर होने के बीच निवेशकों ने मुनाफा काटा जिससे सेंसेक्स करीब 50 अंक टूट गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान 62,245.43 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया। हालांकि, अंत में यह 49.54 अंक या 0.08 प्रतिशत के नुकसान से 61,716.05 अंक पर बंद हुआ।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 58.30 अंक या 0.32 प्रतिशत के नुकसान से 18,418.75 अंक पर आ गया। दिन में कारोबार के दौरान इसने 18,604.45 अंक के अपने रिकॉर्ड स्तर को छुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में आईटीसी का शेयर सबसे अधिक छह प्रतिशत टूट गया। हिंदुस्तान यूनिलीवर, टाइटन, टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट और पावरग्रिड के शेयर भी नुकसान में रहे। वहीं टेक महिंद्रा, एलएंडटी, इन्फोसिस, बजाज फिनसर्व, कोटक बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में लाभ रहा।

एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा कि बाजार में मुनाफावसूली का सिलसिला चला। हालांकि, उतार-चढ़ाव के बावजूद आईटी खंड का सूचकांक पूरे दिन मजबूत बना रहा। अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, चीन का शंघाई कम्पोजिट, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की लाभ में रहे। दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजार भी लाभ में थे। अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत बढ़कर 84.89 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

Edited By: Ashish Deep