नई दिल्ली, पीटीआइ। निवेशकों के हितों को ध्यान में रखते हुए देश के प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज बीएसई और एनएसई ने अपने सदस्यों को करीब 480 इलिक्विड शेयरों में ट्रेडिंग करते समय अधिक सावधानी बरतने की सलाह दी है। इलिक्विड शेयर वे होते हैं, जो आसानी से नहीं बिकते, क्योंकि उनमें सीमित ट्रेडिंग देखी जाती है। ये शेयर निवेशकों के लिए अत्यधिक जोखिम भरे हो सकते हैं, क्योंकि ज्यादा ट्रेड होने वाले शेयरों के मुकाबले इनके लिए खरीदार ढूंढ़ना मुश्किल होता है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में क्रमश: 440 और 38 इलिक्विड  शेयर लिस्टेड हैं, जिनमें ट्रेडिंग करते समय अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। दोनों प्रमुख एक्सचेंजों ने अपने सदस्यों को इसके लिए सर्कुलर्स जारी किये हैं।  दोनों एक्सचेंजों में लिस्टेड इन इलिक्विड शेयरों में श्याम टेलिकॉम, ग्लोबल ऑफसोर सर्विसेज, डीसीएम फाइनेंशियल सर्विसेज, क्रिएटिव आई, नेशनल स्टील और एग्रो इंडस्ट्रीज शामिल हैं।

एक्सचेंजों ने कहा कि जनवरी से मार्च की ट्रेडिंग एक्टिविटी के आधार पर 13 अप्रैल से इन स्क्रिप्स की ट्रेडिंग आवधिक कॉल नीलामी तंत्र में होगी। प्रतिभूतियों को आवधिक कॉल नीलामी तंत्र में डालने के मानदंड सिक्युरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) के परामर्श से तय हुए हैं। ये स्टॉक एक्सचेंजों में समान रूप से लागू होंगे और समय-समय पर इसकी समीक्षा की जाती रहेगी।

दिसंबर 2014 में बाजार नियामक ने इलिक्विड स्टॉक्स में ट्रेडिंग के लिए नियमों में ढील दी थी। इस कदम का उद्देश्य इलिक्विड शेयरों को आवधिक कॉल निलामी से सामान्य ट्रेडिंग सत्रों में शिफ्ट  करना था, वह विंडों जहां अभी ये वर्तमान में ट्रेडिंग कर रहे हैं।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस