नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क।  स्पाइसजेट ने गुरुवार को कैप्टन और सीनियर फर्स्ट ऑफिसर की सैलरी को 20 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया है। कंपनी की ओर से बताया गया कि ये फैसला अक्टूबर से लागू होगा। समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के प्रवर्तक अजय सिंह ने बुधवार को कहा था कि कंपनी आने वाले दो- तीन हफ्तों में सभी कर्मचारियों का टीडीएस जमा कर देगी।

कंपनी का ECLGS लोन हुआ मंजूर

इससे पहले समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से 2 सितंबर को बताया था कि केंद्र सरकार की ECLGS क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत कंपनी को 225 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी। स्पाइसजेट के चीफ फ्लाइट ऑपरेशन गुरचरण अरोरा ने कहा कि केंद्र सरकार की ECLGS क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत का लोन मंजूर हो गया है। इसकी पहली किस्त हमें मिल गई है। हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि कंपनी को इसमें कितना पैसा मिला है।

केंद्र सरकार की ओर से ओर से मई 2020 में कोरोना महामारी की शुरुआत में कंपनियों की मदद के लिए ECLGS क्रेडिट गारंटी स्कीम शुरू की थी। इसके तहत कंपनियों को लोन के ब्याज पर 7 प्रतिशत की छूट दी जाती है।

वित्तीय संकट से गुजर रही स्पाइसजेट

स्पाइसजेट लगातार वित्तीय संकटों का सामना कर रही है। कंपनी अपने वित्तीय संकट को दूर करने के लिए निवेशकों और बैंकों के साथ बातचीत कर रही है। एक साल कंपनी की ओर से घोषित किए गए नतीजों के मुताबिक, जून तिमाही में 789 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था, जोकि मार्च 2022 में 458 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

ये भी पढ़ें-

Interest Rate Hike का आखिर क्या हो रहा है अर्थव्यवस्था पर असर,नकारात्मक या सकारात्मक

फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर बढ़ाने से सहमे बाजार; जानें भारत पर क्या होगा इसका असर

Edited By: Abhinav Shalya