नई दिल्ली, पीटीआइ। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 10 कंपनियों में से 7 के एम-कैप में पिछले हफ्ते कुल एक लाख करोड़ रुपये की गिरावट आई है। इस गिरावट में एचडीएफसी बैंक का बड़ा हिस्सा है। बैंक के बाजार पूंजीकरण में सबसे अधिक 30 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की गिरावट हुई है। सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 10 कंपनियों में से एचडीएफसी बैंक के अतिरिक्त रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोटक महिंद्रा बैंक, आईसीआईसीआई, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, एचडीएफसी और बजाज फाइनेंस के एम कैप में भी कमी आई है। वहीं, सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 10 कंपनियों में से जिन 3 कंपनियों के एम-कैप में बढ़ोत्तरी हुई है, उनमें टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इंफोसिस और आईटीसी कंपनी शामिल है।

सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 10 कंपनियों के एम कैप के आंकड़ों की बात करें, तो HDFC बैंक का एम-कैप 30,198.62 करोड़ रुपये घटकर 6,50,446.47 करोड़ रुपये पर आ गया है। वहीं, ICICI बैंक का एम-कैप 22,866.93 करोड़ रुपये घटकर 2,67,265.32 करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा बैंक का एम-कैप 15,624.6 करोड़ कम होकर 2,98,413.27 करोड़ रुपये, हिंदुस्तान यूनिलीवर का एम-कैप 14,287.76 करोड़ रुपये घटकर 4,20,774.52 करोड़, बजाज फाइनेंस का एम-कैप 9,437.91 करोड़ घटकर 2,26,309.37 करोड़ रुपये, रिलायंस इंडस्ट्रीज का एम-कैप 824.08 करोड़ रुपये घटकर 8,28,808.67 करोड़ रुपये और HDFC का एम-कैप 10,178.84 करोड़ रुपये घटकर 3,41,349.33 करोड़ रुपये रह गया है।

वहीं, सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 10 कंपनियों में से TCS का एम-कैप 8,236.49 करोड़ रुपये बढ़कर 7,79,989.45 करोड़ रुपये, इंफोसिस का एम-कैप 4,681.59 करोड़ रुपये बढ़कर 3,40,704.24 करोड़ रुपये और ITC का एम-कैप 5,344.62 करोड़ रुपये बढ़कर 3,16,069.96 करोड़ रुपये हो गया है।

इस तरह एम-कैप के मामले में सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप दस कंपनियों में रिलायंस पहले पहले स्थान पर रही है। रिलायंस के बाद इस सूची में टीसीएस दूसरे स्थान पर, एचडीएफसी बैंक तीसरे स्थान पर, हिंदुस्तान यूनिलीवर चौथे स्थान पर, एचडीएफसी पांचवे स्थान पर, इंफोसिस छठे स्थान पर, आईटीसी सातवें स्थान पर, कोटक महिंद्रा बैंक आठवें स्थान पर, आईसीआईसीआई बैंक नौवें स्थान पर बजाज फाइनेंस दसवें स्थान पर रही है।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप