मुंबई। पूंजी बाजार नियामक सेबी ने निवेशकों को ज्यादा फायदा पहुंचाने वाले एसएमएस भेज निवेशकों को गुमराह करने वाले बड़े फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ किया है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) को हाल ही में सरकार ने कॉल रिकॉर्ड और औचक निरीक्षण करने का अधिकार दिया है। इसका इस्तेमाल पहली बार करते हुए बाजार नियामक ने यह कार्रवाई की है।

सेबी ने निवेशकों को भी अनचाहे एसएमएस के जरिये निवेश टिप्स को लेकर भी चेताया है। सेबी ने इम्तियाज हनीफ खांडा व वली मुहम्मद हबीब गनीवाला नाम के दो व्यक्तियों और उनसे जुड़ी चार कंपनियों पर अगले निर्देश तक कारोबार करने की रोक लगा दी है। ये सभी निवेश सलाहकार और पोर्टफोलियो मैनेजर के तौर पर भी काम नहीं कर सकेंगे। ये लोग निवेशकों को रोजाना पांच से 75 हजार रुपये तक रिटर्न का वादा कर रहे थे। सेबी ने उन्हें विापन, वेबसाइट समेत विभिन्न सलाहकार सेवाओं को तुरंत हटाने का आदेश भी दिया है। पिछले महीने सेबी को पता चला था कि कुछ कंपनियां एसएमएस के जरिये शेयरों की खरीद-फरोख्त के टिप्स लोगों तक पहुंचा रही हैं। इसके बाद जांच शुरू की गई। इनके कॉल रिकॉर्ड जुटाए गए। इसके बाद बाजार नियामक ने खांडा और गनीवाला के यहां औचक निरीक्षण किया।

नियामक ने खांडा और गनीवाला के अलावा राइट ट्रेडर्स, साई ट्रेडर्स, बुल ट्रेडर्स एवं लक्ष्मी ट्रेडर्स को कारोबार बंद करने का आदेश दिया है। वे इंट्रा डे कारोबार के संबंध में गुमराह करने वाले तथ्य एसएमएस के जरिये भेज रहे हैं। इनकी ओर से निवेशकों से झूठे दावे भी किए जा रहे थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस