नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारत के सबसे बड़े बैंक SBI ने ब्याज दर में 0.25 फीसद की भारी कटौती का सोमवार को ऐलान किया। बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (EBR) में कमी के जरिए अपने ग्राहकों को नए साल की सौगात दी है। बैंक की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि ब्याज दर में इस कमी के साथ अब EBR 8.05 फीसद प्रति वर्ष से घटकर 7.80 फीसद सालाना रह गया है। नयी ब्याज दरें 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी होंगी। State Bank के इस फैसले से बैंक से होम लोन लेने वालों को फायदा होगा। इसके साथ ही EBR पर लोन लेने वाले छोटे एवं मझोले कारोबारियों (MSME) को भी फायदा होगा।  

SBI Home Loan हो गया सस्ता

भारतीय स्टेट बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि नए मकान खरीदारों के लिए अब EBR आधारित ब्याज दर की शुरुआत 7.90% से होगी। पहले यह दर 8.15 फीसद थी। SBI ने कहा है कि एमएसएमई बॉरोअर्स के लिए प्रोडक्ट के हिसाब से नयी ब्याज दर और अन्य विवरण बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध करायी जा रही है। 

यह है EBR का फॉर्मूला 

State Bank of India (SBI) ग्राहक, कर्मचारी, परिसंपत्ति, जमा और शाखाओं के हिसाब से देश का सबसे बड़ा कॉमर्शियल बैंक है। एसबीआई का EBR रिजर्व बैंक के रेपो रेट से लिंक है। RBI इस साल अब तक रेपो रेट में 1.35 फीसद की कटौती कर चुका है। इस समय रेपो रेट 5.15 फीसद के स्तर पर है। एसबीआई ईबीआर तय करने के लिए रेपो रेट + 2.65 फीसद का फॉर्मूला फॉलो करता है। इसके अलावा बैंक होम लोन पर 0.10 फीसद से लेकर 0.75 फीसद तक का अतिरिक्त प्रीमियम भी लेता है।  

MCLR में आठ बार कटौती

बैंक रेपो रेट में आरबीआई की ओर से इस साल की गई भारी कमी का फायदा ग्राहकों को देने के लिए MCLR आधारित लोन की ब्याज दर में भी कई बार कटौती कर चुका है। इस महीने की शुरुआत में बैंक ने आठवीं बार एमसीएलआर आधारित ब्याज दर में कटौती की थी। बैंक ने एक साल के एमसीएलआर में 0.10 फीसद कटौती की घोषणा की थी। इससे बैंक का एक साल का एमसीएलआर घटकर 7.90 फीसद रह गया था। यह ब्याज दर 10 दिसंबर, 2019 से प्रभावी है।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस