नई दिल्ली (जेएनएन)। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने 1 साल के लिए 1 करोड़ से कम राशि वाली एफडी पर ब्याज दरों को घटाकर 6.75 फीसद कर दिया है। यह सात वर्ष के सबसे निचले स्तर पर है। एसबीआई ने इस महीने की शुरुआत में 15 आधार अंक (बेसिस प्वाइंट्स) की कटौती की है।

एसबीआई के इस कदम के साथ ही यह दर वर्ष 2010 की स्थिति में आ गई है, जब बैंक एक साल की फिक्स्ड डिपॉजिट पर 6.75 फीसद की पेशकश करता था। इस नई कटौती के बाद एक साल से लेकर 455 दिनों के बीच की अवधि पर जमा राशि की दर 40 बेस प्वाइंट गिरकर 6.5 फीसद हो गई है।

वहीं, 456 दिन से लेकर दो साल के बीच अवधि के जमा में 25 बीपीएस की गिरावट के बाद नई दर 6.5 फीसद हो गई है। निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई और एचडीएफसी अभी भी एक साल के जमा दर पर 6.9 फीसद की दर से ब्याज दे रहे हैं।

हालांकि, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा जैसे सरकारी बैंक अभी भी 6.8 फीसद और 6.9 फीसद दर की पेशकश कर रहे हैं। 75 लाख रुपए से अधिक के होम लोन पर 10 बीपीएस की कटौती कर 8.55 फीसद और महिलाओं के लिए 8.6 फीसद की दर से लोन दिए जाने के बीच जमा दरों में कटौती की गई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021