नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों के लिए एक अच्छी खबर है। बैंक ने अब दो से 10 वर्ष वाले एक करोड़ से कम की एफडी पर ब्याज दर में 0.25 फीसद की बढ़ोतरी कर दी है। वरिष्ठ नागरिकों को 0.5 फीसद अतिरिक्त ब्याज का फायदा मिलेगा। जानकारी के लिए आपको बता दें कि दो साल से कम की एफडी की ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है। ये दरें एक करोड़ रुपये से कम के जमा पर बढ़ाई गई है। नई दरें बुधवार से लागू हो गई हैं।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहकों को अब 6.6 फीसद से लेकर 6.75 फीसद के बीच ब्याज मिलेगा। इसके साथ ही बैंक ने अपने स्टाफ और पेंशनभोगियों के लिए भी एफडी की ब्याज दरों में इजाफा किया है। वहीं, 60 वर्ष से अधिक की उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को आम जनता की तुलना में एक फीसद ज्यादा ब्याज मिलेगा।

एसबीआई इससे पहले जनवरी और फरवरी में भी फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरें बढ़ा चुकी है। साथ ही बैंक ने एमसीएलआर में बढ़ोतरी की थी।

लघु बचत योजना के लिए आधार की अवधि बढ़ी
सरकार ने लघु बचत खातों को आधार से जोड़ने की अवधि अगले आदेश तक बढ़ा दी है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) व पीपीएफ जैसी लघु बचत योजना पर अप्रैल-जून तिमाही के लिए ब्याज दर पूर्ववत रखने का फैसला किया है। वित्त मंत्रालय ने अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के लिए ब्याज दरों पर अधिसूचना जारी करके कहा कि सरकारी फैसले के अनुरूप ब्याज दरें पूर्ववत रखी गई हैं। पीपीएफ और एनएससी पर 7.6 फीसद ब्याज मिलेगा। 11 महीने की परिपक्वता में किसान विकास पत्र पर 7.3 फीसद ब्याज दिया जाएगा। वरिष्ठ नागरिकों के लिए पांच साल की बचत योजना पर 8.3 फीसद ब्याज देय होगा।
 

इससे पहले फरवरी में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने रिटेल टर्म डिपॉजिट (फिक्स्ड डिपॉजिट) की दरों को बढ़ाया था। बैंक ने कुल 9 अवधियों के लिए कराये जाने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट में 0.10 से 0.50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी। ये दरें एक करोड़ से कम की जमा पर बढ़ाई गई थीं। उससे पहले 30 जनवरी को स्टेट बैंक ने 1 करोड़ से ज्यादा की जमा पर ब्याज दरों में 50 से 140 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी।

Posted By: Surbhi Jain

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस