नई दिल्‍ली, अंकित कुमार। SBI Cards IPO को लेकर निवेशकों में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि कई वजहों से निवेशक इस आइपीओ का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक की अनुषंगी SBI Cards & Payment Services का आईपीओ 2 मार्च को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा और इसके लिए 5 मार्च तक बोली लगाई जा सकती है। कंपनी इस आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) के जरिए 9,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटाना चाहती है। इसके लिए कंपनी ने 750-755 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है। 

आइए जानते हैं कि एक्सपर्ट्स SBI Cards IPO को लेकर किस तरह की संभावनाएं देख रहे हैं: 

SMC Global Securities Ltd. में AVP (Research) सौरभ जैन ने इस आईपीओ के बारे में कहा कि इसका आकार बहुत बड़ा है और रिटेल कैटेगरी में इसे 1.5 गुना अधिक सब्सक्रिप्शन मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कुल-मिलाकर SBI Cards IPO को बहुत बढ़िया रिस्पांस मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में डिजिटल ट्रांजैक्शन में और बढ़ोत्तरी की उम्मीद है और इस पूरे सेक्टर का आउटलुक बहुत सकारात्मक है। साथ ही ग्रोथ रेट अच्छा है, इसलिए निवेशक इस ऑफर को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने इसके लिए रेटिंग एजेंसी क्रिसिल की एक रिपोर्ट का भी हवाला दिया, जिसके मुताबिक इस सेक्टर में अगले पांच साल में ढाई गुना तक की वृद्धि दर्ज की जा सकती है। 

यह भी पढ़ें: SBI Cards IPO: जानें लिस्टिंग की तारीख, IPO का संभावित आकार और कीमत

16 मार्च को स्टॉक मार्केट में लिस्टिंग की संभावना 

बकौल जैन SBI Cards क्रेडिट कार्ड सेक्टर से जुड़ी पहली कंपनी है, जिसकी शेयर बाजारों में लिस्टिंग होनी है। इसलिए भी निवेशक काफी उत्साहित हैं। SBI Cards के शेयरों को 16 मार्च को स्टॉक मार्केट में लिस्ट किए जाने की संभावना है।   

लिस्टिंग के समय ही हो सकता है जबरदस्त फायदा 

स्टॉक मार्केट ब्रोकरेज फर्म Wealth Discovery के डायरेक्टर राहुल अग्रवाल ने कहा कि इस आइपीओ से निवेशकों को काफी उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा कि SBI Cards IPO आवंटन मिलने पर लिस्टिंग के समय ही निवेशकों को 30-40 फीसद का फायदा होने की उम्मीद है। अग्रवाल के मुताबिक IRCTC IPO के बेहतरीन प्रदर्शन से भी निवेशक काफी उत्साहित हैं क्योंकि SBI Cards की पैरेंट कंपनी स्टेट बैंक है। साथ ही कंपनी का दो साल का सीएजीआर ग्रोथ भी शानदार रहा है।    

यह भी पढ़ें: SBI Cards IPO दो मार्च को सब्‍सक्रिप्‍शन के लिए खुलेगा, 750-755 रुपये प्रति शेयर होगा प्राइस बैंड

1998 में अस्तित्व में आई थी SBI Cards  

SBI Cards में स्टेट बैंक की हिस्सेदारी 74 फीसद है। शेष हिस्सेदारी Carlyle Group के पास है। क्रेडिट कार्ड मार्केट में कंपनी की हिस्सेदारी 18 फीसद के आसपास है। SBI Card की शुरुआत अक्टूबर 1998 में SBI और GE Capital ने की थी।  

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस