नई दिल्ली (पीटीआइ)। अप्रैल में औद्योगिक विकास दर 3.4 फीसद रही, जो छह महीने का उच्च स्तर है। खनन क्षेत्र और बिजली उत्पादन में सुधार की वजह से ऐसा संभव हुआ है। बुधवार को यह आंकड़े सामने आए। वहीं, खुदरा महंगाई मई में बढ़कर 3.05 फीसद के सात महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गई। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई को संशोधित कर 2.99 फीसद कर दिया गया था, जो कि 2.92 फीसद है। मई 2018 में खुदरा महंगाई 4.87 फीसद थी।

इससे पहले अक्टूबर 2018 में खुदरा महंगाई 3.38 फीसद पर आया था। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, मई में फ़ूड बास्केट में महंगाई बढ़कर 1.83 फीसद हो गई, जो अप्रैल में 1.1 फीसद से अधिक थी।

अप्रैल 2018 में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) 4.5 फीसद रहा था। खनन क्षेत्र के उत्पादन में 5.1 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई, यह पिछले साल की समान अवधि में 3.8 फीसद रही थी। जबकि आलोच्य अवधि में बिजली उत्पादन में छह फीसद की वृद्धि दर्ज की गई, जो पिछले साल की समान अवधि में 2.1 फीसद थी।

हालांकि, मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में सुस्ती देखी गई। इससे पहले, अक्टूबर 2018 में औद्योगिक उत्पादन उच्च स्तर पर था, तब आंकड़ा 8.4 फीसद था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh