नई दिल्ली, पीटीआइ। सरकार ने अप्रैल की खुदरा महंगाई दर का आंकड़ा मंगलवार को जारी नहीं किया। नेशनल स्टैटिस्टिकल ऑफिस (NSO) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि लॉकडाउन की वजह से कई सेंटर्स पर अधिकारी कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) से जुड़ा आंकड़ा खुद जाकर कलेक्ट नहीं कर पाए। हालांकि, वस्तुओं की खुदरा कीमतों से जुड़े जिस डेटा को टेलीफोन के जरिए संग्रहित किया जा सकता था, उसे जारी किया गया है। टेलीफोन के जरिए इकट्ठा किए गए आंकड़े मार्च के मुकाबले अप्रैल में दुग्ध उत्पादों, फलों और सब्जियों की कीमतों में तेजी को दिखाते हैं।

आम तौर पर NSO के फील्ड ऑपरेशन डिविजन के फील्ड स्टाफ साप्ताहिक रोस्टर के आधार पर 1,114 शहरी बाजारों और 1,181 गांवों में खुद जाकर सामानों की कीमतों से जुड़ा डेटा खुद इकट्ठा करते हैं।  

NSO की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, ''अप्रैल, 2020 का सामान्य CPI और राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेशों के स्तर के सूचकांक जारी नहीं किए जा रहे हैं।'' 

विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए लागू किए गए विभिन्न एहतियाती उपायों एवं राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की वजह से स्टाफ द्वारा खुद जाकर डेटा संग्रह करने का काम 19 मार्च, 2020 से निलंबित है।  

इस रिलीज में कहा गया है कि अप्रैल, 2020 के मूल्य से जुड़े आंकड़े मुख्य रूप से टेलीफोन के जरिए निर्धारित दुकानों से ली गई जानकारी पर आधारित है। इसके अलावा फील्ड स्टाफ द्वारा उनके घर के आसपास की दुकानों से की गई खरीदारी के आंकड़ों को भी इसमें शामिल किया गया है। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस