नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। सरकार अगले महीने के अंत तक एयर इंडिया लिमिटेड को बेचने के लिए भाव आमंत्रित करने पर विचार कर रही है। सरकार का लक्ष्य इस साल में ही सौदे को पूरा करना है। यह जानकारी मामले के जानकार लोगों ने न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग को दी है। सरकार रोड शो आयोजित करेगी, इसमें वह संभावित खरीदारों से मिलने के लिए भी तैयार रहेगी। सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, इस प्रक्रिया में बोलीदाताओं को कुछ हिस्सों को छोड़कर एयरलाइन के खातों को देखने की अनुमति भी मिलेगी। साथ ही वे शेयर खरीद समझौते को भी देख सकते हैं।

मामले के जानकार लोगों ने एजेंसी को बताया कि संभावित बोलीदाताओं के पास इस सौदे में अपनी रूचि व्यक्त करने की प्रक्रिया के दौरान बिक्री की शर्तों में बदलाव के लिए सुझाव देने का विकल्प भी होगा। लोगों ने बताया कि सरकार कैरियर में अपनी सारी हिस्सेदारी बेचना चाहती है।

इस बारे में जब एजेंसी ने वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता डीएस मलिक से फोन पर जानकारी जाननी चाही तो उनसे कोई जवाब नहीं मिल सका। वहीं, एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार ने मामले में टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

यह सरकार का बिक्री योजनाओं को पुनर्जीवित करने का फैसला हो सकता है। पिछले साल किसी भी बोलीदाता को आकर्षित करने में विफल रही सरकार अब यह योजना बना रही है। चालू वित्त वर्ष का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कहा था कि सरकार एयर इंडिया को बेचने की योजना को दोबारा से लाएगी और यह विनिवेश सरकार द्वारा सरकारी कंपनियों के शेयर बेचकर 1,05,000 करोड़ रुपये जुटाने के प्रयासों का हिस्सा होगा।

Posted By: Pawan Jayaswal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस