नई दिल्ली, आइएएनएस। Reliance Industries को कंपनी के इतिहास में पहली बार ऐसा मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) मिल सकता है, जो नॉन-अंबानी होगा। चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्ट का पोस्ट अलग-अलग रखने संबंधी सेबी के निर्देश के पालन की स्थिति में ऐसा होगा। इस निर्देश को एक अप्रैल तक लागू करना है। ऐसी स्थिति में RIL के CMD मुकेश अंबानी कंपनी के नॉन-एक्जीक्यूटिव चेयरमैन होंगे। अब इंडस्ट्री में इस बात को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है कि देश के सबसे बड़े कारोबारी समूहों में शामिल RIL का नया MD कौन होगा। इस संबंध में RIL को भेजे गए सवालों का जवाब अब तक नहीं मिल सका है। 

निखिल मेसवानी, मनोज मोदी रेस में आगे

RIL पर नजर रखने वालों का मानना है कि SEBI का निर्देश अमल में आने के बाद RIL के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और मुकेश अंबानी के विश्वासपात्र निखिल मेसवानी और कंपनी के वर्चुअल सीईओ माने जाने वाले मनोज मोदी इस पद के लिए चुने जा सकते हैं। दो अन्य एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर्स हीतल मेसवानी (निखिल के छोटे भाई) एवं पीएमएस प्रसाद भी इस पद की रेस में बताए जा रहे हैं।  

मेसवानी बंधु लंबे समय से RIL के बोर्ड में हैं और मुकेश अंबानी के कजिन हैं। उनके पिता रसिकलाल मेसवानी RIL के संस्थापक निदेशकों में शामिल थे। मनोज मोदी RIL के बोर्ड में नहीं है लेकिन वह RIL के लिए बहुत अहम व्यक्ति हैं।   

सेबी ने सभी लिस्टेड कंपनियों के लिए एक अप्रैल तक चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर/ सीईओ के पद को अलग करने का निर्देश दिया था। इस निर्देश के मुताबिक परिवार के सदस्य या रिश्तेदार को MD नहीं बनाया जा सकता है।

हालांकि, रिश्तेदार को लेकर Companies Act की परिभाषा में कजिन्स शामिल नहीं हैं। ऐसे में निखिल एवं उनके छोटे भाई हीतल मेसवानी इस पद की दौड़ में बने हुए हैं। कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की लिस्ट में हीतल का नाम मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी के नाम के ठीक नीचे दिखता है। 

RIL की वेबसाइट पर उपबल्ध बॉयोडेटा के मुताबिक हीतल मेसवानी 1990 में Reliance Industries Ltd (RIL) से जुड़े थे।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस