नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। भारतीय रिजर्व बैंक ने चालू वित्‍त वर्ष की पांचवीं द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो रेट को यथावत रखने का फैसला किया है। रेपो रेट 5.15 फीसद पर बरकरार रखा गया है। केंद्रीय बैंक ने इससे पहले चार अक्टूबर को इस साल की अपनी पांचवीं द्विमासिक समीक्षा में प्रमुख नीतिगत दर यानी रेपो रेट में 0.25 फीसद की कटौती की घोषणा की थी। उससे पहले अगस्त में केंद्रीय बैंक ने सभी विश्लेषकों को चौंकाते हुए रेपो रेट में 0.35 फीसद की कटौती की थी। उससे पहले फरवरी, अप्रैल और जून में आरबीआई ने रेपो दर में हर बार 0.25 फीसद की कटौती की थी। 

GDP Growth Forecast : भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति कमेटी (MPC) ने वित्‍त वर्ष 2019-20 के लिए GDP ग्रोथ रेट का अनुमान 6.1 फीसद से घटा कर 5 फीसद कर दिया है। 

इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी छमाही के लिए खुदरा महंगाई दर का अनुमान बढ़ाकर 4.7-5.1 फीसद कर दिया है। 

पिछले सप्ताह जारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल जुलाई से सितंबर के बीच देश की जीडीपी की वृद्धि दर घटकर 4.5 के स्तर पर रह गई। जीडीपी वृद्धि की रफ्तार में भी चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले 0.5 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं अगर वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही से तुलना की जाए तो देश की आर्थिक वृद्धि की रफ्तार में 2.6 फीसद तक की मंदी देखी गई है। पिछले साल की दूसरी तिमाही में यह आंकड़ा 7.1 फीसद पर था।

 

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस