नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आरबीआई ने कटे-फटे नोटों को बदलवाने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (नोट रिफंड) नियम, 2009 में कई महत्वपूर्ण संशोधन किए हैं। इन नए प्रावधानों को 6 सिंतबर से ही अमल में ला दिया गया है। ये संशोधन इसलिए किए गए हैं ताकि महात्मा गांधी सीरीज के नए नोटों को जारी करने के बाद लोग नोटों को आसानी से बदलवा सकें। आरबीआई की ओर से जारी किए गए नए नोट पहले के नोटों की तुलना में आकार में छोटे हैं। गौरतलब है कि नोट बदलने का कानून आरबीआई एक्ट की धारा 28 के अंतर्गत आता है। इसमें नोटबंदी के पहले के ही कटे-फटे या गंदे नोट बदलने की इजाजत थी।

नियमों के मुताबिक, नोट की स्थिति के आधार पर लोग देशभर में आरबीआई कार्यालयों और नामित बैंक शाखाओं में विकृत या दोषपूर्ण नोट को बदलवा सकते हैं। जानकारी के लिए आपको बता दें कि नवंबर 2016 में केंद्र सरकार की ओर से किए गए नोटबंदी के फैसले के बाद आरबीआई की ओर से 2000 रुपये, 500 रुपये, 200 रुपये, 50 रुपये और 10 रुपये के नए नोट जारी किए गए थे। लेकिन साइज में अंतर होने की वजह से ये नए नोट आरबीआई के नोट रिफंड रुल 2009 के अंतर्गत नहीं आते थे।

आरबीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया, "50 रुपये या उससे ज्यादा मूल्यवर्ग के कटे-फटे नोटों को लेकर महत्वपूर्ण संशोधन किए गए हैं। बदले नियमों के अनुसार अगर नोट 40 फीसद से ज्यादा हिस्से में बंटे होंगे तो उन परिस्थितियों में पूरा रिफंड मिलेगा।" वहीं आरबीआई ने 2000 रुपये के कटे-फटे नोटों पर मौजूदा नियमों में भी संशोधन किया है।

जानिए कैसे बदलेगा आपका कटा फटा नोट और मिलेगा कितना रिफंड?

50 रुपये, 100 रुपये और 500 रुपये का नोट: 50 रुपये, 100 रुपये और 500 रुपये के पुराने कटे फटे नोट की पूर्ण वापसी (बराबर मूल्य में) के लिए यह जरूरी होगा कि आपका नोट 2 हिस्सों में बंटा हो जिसमें से एक हिस्सा पूरे नोट के 40 फीसद या उससे ज्यादा क्षेत्र को कवर करता हो। आसान शब्दों में 50 रुपये और इससे अधिक मूल्य वर्ग के कटे-फटे नोटों को बदलने के लिए हर टुकड़े का क्षेत्र, अलग-अलग, उस मूल्य के नोट के कुल क्षेत्र का कम से कम 40 फीसदी होना चाहिए।

2000 रुपये के पुराने नोट पर पूरे रिफंड के लिए: 2000 रुपये के पुराने कटे फटे नोट की कंडीशन के आधार पर तय होगा कि आपको इसका पूरा रिफंड मिलेगा या फिर कुछ कम। जानकारी के लिए आपको बता दें कि 2 हजार के नोट की पूरी कीमत के लिए ग्राहक को नोट के वास्तविक आकार का कम से कम 88 फीसद हिस्सा देना होगा। 44 फीसद हिस्सा लौटाने पर नोट की आधी कीमत मिलेगी।

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप