नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गुरुवार को महिंद्रा फाइनेंस को कर्ज की वसूली के लिए थर्ड पार्टी रिकवरी एजेंट्स का उपयोग करने पर रोक लगा दी। आरबीआई ने ये रोक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एक्ट, 1934 की धारा 45L(1)(b) के तहत अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए लगाई है, जिसमें मुंबई स्थित महिंद्रा & महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (MMFSL) को कहा गया कि तत्काल प्रभाव से बाहरी एजेंसियों के जरिए रिकवरी प्रोसेस को बंद किया जाए।

इसके बाद एमएमएफएसएल की बयान दिया गया, जिसमें कहा कि कंपनी अपनी वसूली और जब्ती की प्रक्रिया को अपने कर्मचारियों की ही उपयोग करेगी।

महिंद्रा फाइनेंस के रिकवरी के तरीके पर उठे थे सवाल

बता दें, हाल ही में झारखंड के हजारीबाग जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना हुई थी। इसमें खुद को महिंद्रा फाइनेंस का रिकवरी एजेंट बताने वाले शख्स ने एक महिला पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया था। इस घटना में महिला की मृत्यु हो गई थी। घटना के बाद महिंद्रा फाइनेंस के रिकवरी के तरीके पर भी सवाल खड़े हुए थे।

आनंद महिंद्रा ने किया था ट्वीट

इस घटना पर महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने महिंद्रा फाइनेंस के सीईओ अनीश शाह के बयान का समर्थन करते हुए कहा था कि यह बहुत भयानक घटना है। हम परिवार के साथ खड़े हैं।

बता दें, इस घटना पर महिंद्रा फाइनेंस ने बयान जारी करते हुए खुद जताया था और कहा कि यह एक मानव त्रासदी है। हम इस घटना की सभी तरीकों से जांच करवाएंगे। इसके साथ कंपनी कलेक्शन प्रोसेस में थर्ड पार्टी के कार्य के काम का रिव्यु करेगी। हम जांच एजेंसियों का पूरा सहयोग करेंगे।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढे़ं-

FD पर तगड़ा ब्याज दे रहा है ये बैंक, मैच्योरिटी से पहले भी निकाल सकते हैं पैसा, नहीं देना होगा कोई जुर्माना

क्रिप्टो मार्केट में बड़ी गिरावट; बिटकॉइन, एथेरियम और सोलाना 6 फीसदी तक फिसले

Edited By: Abhinav Shalya