नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। चालू वित्त वर्ष को खत्म होने में अब दो महीने का समय ही बचा है। यह Income Tax में मैक्सिमम बचत के लिए निवेश करने का समय है क्योंकि आयकर अधिनियम के तहत एक सीमा तक इंवेस्टमेंट पर टैक्स में छूट मिलती है। आप बहुत सी योजनाओं के बारे में पहले से जानते होंगे, जिनमें निवेश पर Income Tax में रिलीफ मिलती है। हालांकि, अगर आपने अब तक इंवेस्टमेंट नहीं की है और अभी ऑप्शन तलाश रहे हैं तो आप PPF, NSC, Sukanya Samriddhi Yojana जैसी योजनाओं में निवेश कर सकते हैं।  

टैक्स एवं निवेश एक्सपर्ट बलवंत जैन कहते हैं कि इस वित्त वर्ष के खत्म होने में ढाई माह से भी कम समय बचा है। अगर ऐसे में आप तय सीमा के मुताबिक पूरी छूट हासिल करना चाहते हैं तो इन ऑप्शन्स पर विचार कर सकते हैं: 

PPF: Public Provident Fund में एकमुश्त डेढ़ लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। पीपीएफ को काफी लोकप्रिय टैक्स सेविंग स्कीम माना जाता है। इस योजना के तहत एक साल में डेढ़ लाख रुपये से अधिक का निवेश संभव नहीं है। पीपीएफ की मेच्योरिटी की अवधि 15 साल की होती है। 

NSC: भारत सरकार National Savings Certificate (NSC) को प्रमोट करती है। इस सर्टिफिकेट को पोस्ट ऑफिस से खरीदा जा सकता है। देश में डाकघरों की बड़ी संख्या होने के कारण यह योजना भारत में काफी लोकप्रिय है। कोई भी भारतीय नागरिक NSC खरीद सकता है। इसके लिए कोई तय आयुसीमा नहीं है। इस स्कीम में निवेश पर आपको बढ़िया रिटर्न मिलता है।  

SCSS: अगर आप वरिष्ठ नागरिक हैं तो Senior Citizens Savings Scheme (SCSS) में निवेश कर सकते हैं। यह सरकार समर्थित निवेश योजना है। अकाउंट खुलवाने के बाद यह स्कीम मेच्योर हो जाती है लेकिन आप चाहें तो पांच साल बाद भी अगले तीन साल के लिए इसमें निवेश जारी रख सकते हैं। चालू वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही के दौरान आपको इस योजना में निवेश पर 8.6 फीसद का रिटर्न मिलेगा।  

बकौल जैन आप इन योजनाओं के साथ सुकन्या समृद्धि योजना, National Pensiom Scheme और अन्य योजनाओं में भी निवेश कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने HR को बोलकर पीएफ में अपना अंशदान बढ़वा भी सकते हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस