नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने अपने उन सहयोगी बैंकों के दावों का सम्मान किया है जिन्होंने पंजाब नेशनल बैंक की गारंटी पर अरबपति ज्वैलर नीरव मोदी और उनके चाचा मेहुल चौकसी को कर्ज दिया था। लेकिन अब इसके भुगतान की देनदारी उन पर आ गई है। एक मीडिया रिपोर्ट के जरिए यह जानकारी सामने आई है।

देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पीएनबी में एक बड़े बैंकिंग फ्रॉड का खुलासा हुआ था, जिसमें कुछ बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से नीरव मोदी और उनके चाचा मेहुल चौकसी को गलत तरीके से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग उपलब्ध करवाए गए थे, जिसकी मदद से उन्होंने विदेशी बैंक की शाखाओं से (अधिकांशत: भारती) से कर्ज लिया था। नीरव मोदी और उनके चाचा मेहुल चौकसी दोनों ही इस बात को नकार चुके हैं कि उन्होंने कुछ भी गलत किया है। इन दोनों ही मुख्य आरोपियों ने भारत के भीतर अब तक के सबसे बड़े बैंकिंग फ्रॉड को अंजाम दिया है।

पैसा देने को तैयार PNB: सूत्र के मुताबिक पीएनबी ने मार्च के अंत तक बकाया भुगतान पर सहमति जता दी है लेकिन साथ में उसने यह भी कहा है कि उस सूरत में सहयोगी बैंकों को पीएनबी को भुगतान करना होगा अगर जांच अधिकारी इस बात को स्वीकार करते हैं कि इन बैंकों के इरादे उचित नहीं थे। हालांकि इस संबंध में जब पीएनबी से पूछताछ करने की कोशिश की गई तो उसने इस पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। पीएनबी को इन बैंकों का 60 बिलियन रुपए का बकाया मार्च के अंत तक चुकाना है।

गौरतलब है कि करीब 12,700 करोड़ के पीेएनबी स्कैम के बाद ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और बैंक ऑफ महाराष्ट्र में भी घोटाला सामने आया था।

By Praveen Dwivedi