नई दिल्ली, पीटीआइ। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के प्रमुख अतुल कुमार गोयल ने कहा कि बैंक अगले महीने से रेपो से जुड़ी उधार दरों में वृद्धि करेगा। बढ़ती मुद्रास्फीति के बीच भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा पिछले सप्ताह रेपो दर में 40 आधार अंकों (बीपीएस) की बढ़ोतरी की पृष्ठभूमि में यह कदम उठाया जा रहा है। इससे लोन लेने वाले ग्राहकों पर EMI का बोझ बढ़ेगा।

सार्वजनिक क्षेत्र के ऋणदाता के एमडी और सीईओ गोयल ने संवाददाताओं से कहा कि ब्याज दरों को बढ़ना निश्चित है। गोयल ने कहा, "रेपो दर में 40 बीपीएस की वृद्धि हुई...इसलिए हमारी नीति के अनुसार, 1 जून से उधार दरों में समान मात्रा में वृद्धि होगी। इसलिए, निश्चित रूप से ऋण दर में कुछ वृद्धि होगी।" रेपो दर वह दर होती है, जिस पर आरबीआई, बैंकों को अल्पकालिक धन उधार देता है।

इससे पहले बैंक ने 7 मई से चुनिंदा सावधि जमा (FD) पर 0.60 प्रतिशत तक ब्याज दरें बढ़ा दी थीं। इसके अलावा, आरबीआई दर वृद्धि के बाद कई बैंकों ने अपने ग्राहकों के लिए रेपो-लिंक्ड उधार दरों को पहले ही बढ़ा दिया है। कुछ ने अपनी जमा दरों में भी वृद्धि की है।

मार्च 2022 को समाप्त तिमाही और वित्तीय वर्ष में बैंक के प्रदर्शन के बारे में गोयल ने कहा कि प्रावधान में वृद्धि के कारण तिमाही लाभ कम हुआ है। मार्च तिमाही में बैंक का शुद्ध लाभ 66 फीसदी गिरकर 202 करोड़ रुपये रहा। हालांकि, पूरे साल 2021-22 में शुद्ध लाभ 71 फीसदी उछलकर 3,457 करोड़ रुपये रहा। गोयल ने कहा कि अर्थव्यवस्था में मांग पूर्व-महामारी के स्तर पर पहुंच गई है और स्टील, सीमेंट तथा सड़क बुनियादी ढांचे जैसे क्षेत्रों में अच्छा रुझान दिख रहा है।

उन्होंने कहा, "वाहन खंड में अच्छी मांग है। COVID के कारण, हर कोई अपना वाहन खरीदना चाहता है। यही वजह है कि व्हीकल (सेगमेंट लोन) में करीब 25 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।"

Edited By: Lakshya Kumar