नई दिल्ली, पीटीआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्योग मंडल CII के वार्षिक सत्र को मंगलवार को संबोधित करेंगे। सूत्रों के मुताबिक अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री देश के उद्योग जगत के समक्ष वृद्धि दर को दोबारा हासिल करने को लेकर अपने विचार रखेंगे। वह ऐसे समय में उद्योग जगत को संबोधित करने जा रहे हैं जब कंपनियां लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद अपने ऑपरेशन फिर से शुरू कर रही हैं। उद्योग मंडल से जुड़े एक सूत्र ने पीटीआइ को जानकारी दी कि प्रधानमंत्री कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (CII) के 125वें स्थापना दिवस पर आयोजित वार्षिक सत्र में उद्घाटन भाषण देंगे। CII की स्थापना 1895 में हुई थी।

(यह भी पढ़ेंः बहुत जल्द अमीर बनना चाहते हैं तो पैसे से बनेगा पैसा, बस आपको करना होगा ये 4 काम)

इस वर्चुअल वार्षिक सत्र की थीम 'वृद्धि दर को वापस पाना' (Getting Growth Back) है। इस कार्यक्रम में पिरामल समूह के चेयरमैन अजय पिरामल, ITC के सीएमडी संजीव पुरी, बॉयोकॉन की सीएमडी किरण मजूमदार शॉ, एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार, कोटक महिंद्रा बैंक के सीइओ उदय कोटक और सीआइआइ के प्रेसिडेंट विक्रम किर्लोस्कर हिस्सा लेंगे।  

उल्लेखनीय है कि गृह मंत्रालय ने शनिवार को 'Unlock-1' की घोषणा की। इसके तहत आठ जून से देश में विभिन्न गतिविधियों के लिए छूट दे दी गई है। आठ जून से कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य हिस्सों में शॉपिंग मॉल, रेस्टोरेंट और धार्मिक स्थल खुलेंगे।  

विभिन्न रेटिंग एजेंसियों और अर्थशास्त्रियों ने कोविड-19 और उसकी वजह से लागू लॉकडाउन के चलते चालू वित्त वर्ष में देश की जीडीपी वृद्धि दर में भारी कमी का अनुमान जाहिर किया है। 

(यह भी पढ़ेंः PM Kisan: हर साल मिलते हैं 6,000 रुपये, ऐसे देखें इस योजना के लाभार्थियों में आपका नाम है या नहीं)

सरकार ने लॉकडाउन से प्रभावित इकोनॉमी के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। इस राहत पैकेज में छोटे कारोबारियों के साथ-साथ घरेलू मैन्यूफैक्चरर्स एवं अन्य तबकों को कई तरह की राहत दी गई है।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस