नई दिल्ली, एजेंसी। प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर भारत के लिए इस दशक को टेकेड बनाने और 5जी, सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग और डिजिटल सेवाओं के जरिये परिवर्तन लाने का आह्वान किया है। उद्योग जगत का कहना है कि इससे देश में प्रौद्योगिकी क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा। घरेलू मोबाइल उपकरण मैन्यूफैक्चरर लावा इंटरनेशनल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक हरि ओम राय ने कहा कि इलेक्ट्रानिक्स एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र करीब 4000 अरब डालर का राजस्व देते हैं।

वैश्विक जीडीपी पर इसका असर करीब 17000 अरब डालर का है। प्रधानमंत्री ने भविष्य को भांप लिया है और बता दिया है कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र उनके लिए प्राथमिकता रखता है। इंडिया सेलुलर एंड इलेक्ट्रानिक्स एसोसिएशन (आइसीईए) के चेयरमैन पंकज महिंदूर ने कहा कि जीडीपी में वृद्धि मैन्यूफैक्चरिंग और प्रौद्योगिकी के बूते होगी। हम इस काम में लगे हैं, लेकिन अभी लंबा रास्ता तय करना है।

नैसकाम ने कहा है कि उभरती प्रौद्योगिकियों के साथ भारत के प्रौद्योगिकी नवोन्मेष ने दुनिया को प्रभावित किया है। उद्योग संगठन सीआइआइ के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का जो प्रेरणादायी दृष्टिकोण है, वह 130 करोड़ भारतीयों केभीतर परिवर्तन लाने की सामूहिक भावना को जागृत करेगा। फिक्की के प्रेसिडेंट संजीव मेहता ने प्रधानमंत्री द्वारा 2047 के भारत के लिए 'पांच प्रण' के आह्वान का स्वागत किया।

क्या बोले उद्योगपति

आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर भारत अपार अवसरों और तेज वृद्धि के मुहाने पर खड़ा है। हमारे युवाओं के सपनों और आकांक्षाओं के बल पर सर्वश्रेष्ठ लोकतंत्र की कहानी की तो यह महज शुरुआत है। भारत अब रुकने वाला नहीं है। जय हिंद। -गौतम अदाणी, अदाणी समूह के चेयरमैन

भारत की आजादी के 75वें वर्ष का जश्न सम्मान और गौरव के साथ मनाया जा रहा है। मातृभूमि को स्वतंत्रता दिवस की बधाई। - रिशद प्रेमजी, विप्रो के चेयरमैन

स्टार्टअप से लेकर खेलों तक हमारे युवा दुनिया की उम्मीदों से कहीं आगे निकल गए। अगले 25 वर्ष में हम दुनिया का अग्रणी प्रौद्योगिकी केंद्र बनाएंगे जो सिलिकान वैली से भी बेहतर होगा।

- अनिल अग्रवाल, वेदांता समूह के संस्थापक

Edited By: Krishna Bihari Singh