नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। पाकिस्तान की बिल्कुल कमजोर हो चुकी अर्थव्यवस्था को एशियाई विकास बैंक (एडीबी) की ओर से काफी बड़ी राहत मिली है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारी नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को एडीबी की ओर से शुक्रवार को 1.3 अरब डॉलर का लोन मिला। इससे जबरदस्त सुस्ती का सामना कर रही पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को बहुत अधिक रिलीफ मिलने की उम्मीद है। 

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि की रफ्तार पिछले कुछ वर्षों में बिल्कुल रूक सी गई है और वह विदेशी मुद्रा भंडार की कमी से भी जूझ रहा है। ऐसे में उसे जरूरी खर्चे निकालने के लिए विभिन्न प्लेटफॉर्म से लोन लेना पड़ रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 2018 में सत्ता संभालने के साथ चीन और सऊदी अरब जैसे करीबी सहयोगियों से रियायती दरों पर लोन देने का आग्रह कर रहे हैं ताकि उसे अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) से ज्यादा बड़ा बेलआउट पैकेज लेने की जरूरत नहीं पड़े।  

मनीला स्थित एडीबी ने एक बयान जारी कर कहा है कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को स्थिर करने के लिए आईएमएफ के नेतृत्व में उठाये गए सुधारों के तहत एडीबी की ओर से यह लोन दिया गया है। 

एडीबी के महानिदेशक (सेंट्रल और वेस्ट एशिया) वर्नर लिपाच ने कहा, ''एडीबी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को व्यापक समर्थन देने और बाह्य आर्थिक जोखिमों को कम करने के लिए प्रतिबद्ध है।'' 

एडीबी की ओर से जारी एक अन्य प्रेस रिलीज में कहा गया है कि पाकिस्तान को चालू खाता घाटा कम करने एवं राजस्व की स्थिति को मजबूत करने के लिए एक अरब डॉलर की राशि दी गई है। वहीं, एनर्जी प्रोग्राम के लिए 30 करोड़ डॉलर की राशि दी गई है।  

एडीबी के इस कर्ज के अलावा पाकिस्तान की सरकार ने फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व को स्थिर करने और पुराने ऋण को चुकाने के लिए चीन और यूएई जैसे मित्र देशों से 10.40 अरब डॉलर का लोन लिया हुआ है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस