नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। नौकरी पेशा व्यक्तियों के लिए इंप्लॉइस प्राविडेंड फंड बचत और निवेश का हमेशा से ही एक बेहतर जरिया रहा है। Provident Fund में निवेश से जहां एक तरफ बेहतर ब्याज दर का लाभ मिलता है, तो वहीं दूसरी तरफ टैक्स से बचत भी होती है। लेकिन कई बार ऐसा देखने में आता है कि EPF खाता खुलवाते समय या फिर उसका फार्म भरते समय कुछ गलतियां हो जाती हैं। ऐसे में कई बार खाताधारकों को EPF का पैसा क्लेम करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ जाता है।

EPF अकाउंट से जुड़ी ऐसी गलतियों और समस्याओं को दूर करने के लिए EPFO यानी इंप्लॉइस प्राविडेंड फंड ऑर्गनाइजेशन ने ऑनलाइन प्रक्रिया की शुरुआत की है। EPFO की ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत आप अपने EPF अकाउंट में नाम, जन्म की तारीख और अन्य सुधार भी कर सकते हैं।

2014 में UAN यानी यूनिवर्सल अकाउंट नंबर की शुरुआत होने के बाद से EPF से जुड़ी कई सारी प्रक्रिया आसान हो चुकी है। UAN एक 12 अंको का यूनिक कोड होता है, जो कि उपभोक्ताओं के PF अकाउंट को लिंक करता है, और उसे ऑनलाइन मैनेज करने में सहायक होता है।

आइये जानते हैं ऑनलाइन तरीके से EPF अकाउंट में सुधार की पूरी प्रक्रिया के बारे में।

EPF अकाउंट में सुधार से जुड़ी प्रक्रिया के लिये सबसे पहले आपको अपना UAN एक्टिवेट कराना होगा, साथ ही वैध आधार कार्ड का होना भी जरूरी है। PF अकाउंट को अपडेट करने की प्रक्रिया दो लेवल मे पूरी होती है, पहला इंप्लाई लेवल पर और दूसरा इंप्लॉयर लेवल पर।

सबसे पहले तो आपको EPFO की आधिकारिक वेबसाइट http://www.epfindia.gov.in पर जाकर लॉगइन करना होगा। उसके बाद मैनेज वाले ऑप्शन पर क्लिक करके मोडिफाई बेसिक डिटेल के ऑप्शन में जाना होगा, जहां पर आपको आधार नंबर भरना होगा। उसके बाद आपको अपना नाम, जेंडर(लिंग), जन्म तिथि, और अन्य जानकारियों को भरना होगा। सारी जानकारियां भरते वक्त यह जरूर ध्यान रखें कि आपकी सारी जानकारी आधार कार्ड से मैच हो रही हो।

जानकारी भरने के बाद आपका रिक्वेस्ट सबमिट हो जाएगा। रिक्वेस्ट सबमिट होने के बाद उसे इंप्लॉयर के द्वारा वेरिफाइड किया जाता है, वेरिफिकेशन रिक्वेस्ट ऑटोमैटिक ही इंप्लॉयर के पास पहुंच जाता है।

ऑनलाइन तरीके से इन आसान स्टेप्स को फॉलो कर आप अपने EPF अकाउंट को अपडेट कर सकते हैं।

Edited By: Nitesh