नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को उम्मीद है कि केंद्र सरकार अगले दो-तीन दिन में नए आर्थिक पैकेज की घोषणा कर सकती है। उन्होंने सोमवार को कहा कि आरबीआइ द्वारा लोन के भुगतान पर घोषित तीन माह के मोराटोरियम के बावजूद 'स्थिति बहुत खराब' है। MSME, सड़क परिवहन और राजमार्ग मामलों के मंत्री ने कहा कि सरकार उद्योग के साथ खड़ी है लेकिन इंडस्ट्री को भी यह समझना होगा कि सरकार की अपनी सीमाएं हैं। गडकरी ने कहा, ''सभी को बचाने के लिए हम अपने स्तर से हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।'' 

उन्होंने कहा कि जापान और अमेरिका की सरकारों ने बहुत बड़े आकार के पैकेजों की घोषणा की है लेकिन उनकी अर्थव्यवस्थाएं भारत से बड़ी हैं। 

लोगों की मुश्किलों को कम करने के लिए रिजर्व बैंक ने 27 मार्च को कई उपायों की घोषणा की थी। इसके तहत लोन के भुगतान पर तीन माह की मोहलत भी केंद्रीय बैंक ने दी थी।

तेलंगाना के उद्योगपतियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करते हुए गडकरी ने कहा कि उन्होंने वित्त मंत्रालय को ऐसा विकल्प तलाशने का सुझाव दिया है, जिसके तहत आयकर और जीएसटी रिफंड तत्काल संबंधित व्यक्ति के अकाउंट में ट्रांसफर हो जाए। 

राहत पैकेज के बारे में गडकरी ने कहा कि वह दो-तीन दिन में सरकार की ओर से पैकेज की उम्मीद कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ''हम सभी उसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं।''

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को देखते हुए 26 मार्च, 2020 को 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का एलान किया था। इसके बाद लोग बेसब्री से सरकार के दूसरे राहत पैकेज की उम्मीद कर रहे हैं। इस बीच लगातार इस तरह की खबरें आती रही हैं कि सरकार में नए आर्थिक पैकेज पर काम चल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सहित कई वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक भी की है। 

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस